Connect with us

Breaking News

PU छात्रसंघ चुनाव: टाइट सिक्योरिटी के बावजूद पटना कॉलेज के गेट पर छात्र संगठनों के बीच झड़प

Published

on

211 Views

पटना यूनिवर्सिटी छात्र संघ चुनाव को लेकर वोटिंग शुरू हो गई है. सुरक्षा व्यवस्था पूरी तरह टाइट है. इसके बावजूद पटना कॉलेज गेट पर छात्र संगठनों के बीच झड़प होने की सूचना आ रही है. पटना कॉलेज के गेट पर एबीवीपी और लेफ्ट पार्टी संगठनों के छात्रों के बीच धक्का मुक्की हुई. लेकिन पुलिस की मुश्तैदी से बड़ी घटना टल गई. इसके अलावा छात्र राजद, AISF और आईसा समर्थकों द्वारा हंगामा किए जाने की भी सूचना है. यह लोग एबीवीपी धांधली का आरोप पर लगा रहे.

MUST READ: पीयू छात्रावासों में देर रात छापा, चुनाव प्रभावित करने को जुटे 12 संदिग्ध हिरासत में

यह है झड़प की वजह
– बीच सड़क पर प्रत्याशियों का नाम लिखे जाने का विरोध,
– कॉलेज कैंपस में गाड़ी लेकर घुसने के आरोप में एक युवक गिरफ्तार,
-पटना कॉलेज के प्राचार्य ने 67% वोटिंग होने का लगाया अनुमान
-मतदान केन्द्र के बाहर फेंके गये है उम्मीदवारो की पर्ची
-जन अधिकार छात्र परिषद् के है पर्चा

बनाए गए इतने मतदान केंद्र
इस बार 20,000 से अधिक वोटर्स अपने मत का प्रयोग करेंगे. इसके लिए 14 मतदान केंद्र बनाए गए हैं. कयास लगाए जा रहे हैं कि आज देर शाम तक रिजल्ट की घोषणा भी हो जाएगी. नोटिफिकेशन के मुताबिक पिछले चुनाव की तरह इस बार भी साइंस कॉलेज के परीक्षा भवन में ऑफिस वेयर पद के लिए वोटों की गिनती होगी. यहां रात में वोटों की गिनती के बाद सभी पदों के लिए चुनाव का रिजल्ट की घोषणा की जाएगी. खासकर भाजयुमो की ओर से राज्यपाल लालजी टंडन को की ​गई शिकायत के बाद इस चुनाव पर राजभवन की नजर है. बुधवार यानी आज सुबह 8 बजे से वोटिंग शुरू हो गई है. पटना वीमेंस कॉलेज, पटना कॉलेज, एएन कॉलेज आदि बूथों पर स्टूडेंट्स वोट देने के लिए पहुंचने लगे हैं. पीयू छात्र संघ कुल 29 पद हैं, जिसमें से 6 पदों पर निर्विरोध चुनाव हो चुका है.

MUST READ: PUSU ELECTION 2018: BJP-JDU के लिए बनी प्रतिष्ठा की लड़ाई, वोटरों को रुझाने में रातभर जुटे रहे दिग्गज

वहीं बाकी बचे 23 पदों पर वोटिंग शुरू हो गई है. वोटिंग के बाद आज ही शाम चार बजे से काउंटिंग होगी. 23 पदों के लिए मैदान में 108 कैंडिडेट्स अपनी-अपनी किस्मत आजमा रहे हैं. सेंट्रल पैनल में 5 पदों पर चुनाव होना है. इसमें अध्यक्ष और महासचिव पद के लिए 9-9, जबकि उपाध्यक्ष और संयुक्त सचिव के लिए 8-8 उम्मीदवार हैं. पूरे सेंट्रल पैनल पर नजर डालें तो कुल 5 पदों के लिए कुल 41 उम्मीदवार मैदान में अपना भाग्य आजमा रहे हैं. इसी तरह सेंट्रल पैनल में कोषाध्यक्ष पद के लिए 7 उम्मीदवार हैं. वो​टिंग दोपहर 2 बजे तक होगी. छात्र संघ चुनाव में कुल 20330 वोटर अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे. इसके लिए कुल 46 बूथ बनाए गए हैं. आज ही शाम चार बजे से साइंस कॉलेज कैंपस में काउंटिंग होगी. रिजल्ट देर रात जारी होने की उम्मीद है. हालांकि रूझान शाम से ही मिलने लगेगा.

Breaking News

बिहार और केरल के 4 हजार से ज्यादा सांसदों-विधायकों के खिलाफ मुकदमे निपटाने को सुप्रीम कोर्ट ने बनाया ‘प्लान’

Published

on

वर्तमान एवं पूर्व सांसदों और विधायकों के खिलाफ लंबित आपराधिक मुकदमों की तेजी से सुनवाई सुनिश्चित करने के लिए उच्चतम न्यायालय (Supreme Court) ने बिहार और केरल के प्रत्येक जिले में विशेष अदालतें गठित करने का निर्देश दिया. शीर्ष अदालत को सूचित किया गया कि वर्तमान और पूर्व सांसदों/विधायकों के खिलाफ 4122 आपराधिक मुकदमे लंबित हैं. इनमें से कुछ मुकदमे तो 30 साल से भी अधिक पुराने हैं. सुप्रीम कोर्ट ने इन विशेष अदालतों में मुकदमों की सुनवाई का क्रम निर्धारित करते हुए कहा कि वर्तमान और पूर्व सांसदों/विधायकों के खिलाफ लंबित ऐसे दंडनीय अपराधों के मामलों को प्राथमिकता दी जाएगी, जिनमें उम्र कैद या मौत की सजा का प्रावधान है. इन दोनों राज्यों के प्रत्येक जिले में विशेष अदालतों के गठन का निर्देश देने के साथ ही 14 दिसंबर तक पटना तथा केरल उच्च न्यायालयों से इस पर अनुपालन रिपोर्ट भी मांगी है.

प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई (CJI Ranjan Gogoi), न्यायमूर्ति संजय किशन कौल और न्यायमूर्ति केएम जोसफ की पीठ ने कहा कि एक विशेष अदालत में वर्तमान और पूर्व सांसदों/विधायकों की संलिप्तता वाले सारे मामलों को भेजने की बजाए प्रत्येक जिले में विशेष अदालतें स्थापित करना अधिक कारगर होगा. पीठ ने इन जनप्रतिनिधियों के खिलाफ लंबित मामलों के आंकड़ों के अवलोकन के बाद अपने आदेश में कहा, ‘प्रत्येक जिले में एक सत्र अदालत और एक मजिस्ट्रेट अदालत मनोनीत करने की बजाए हम प्रत्येक हाईकोर्ट से अनुरोध करते हैं कि वर्तमान और पूर्व सांसदों/विधायकों की संलिप्तता वाले मामले उतनी सत्र अदालतों और मजिस्ट्रेट अदालतों को आबंटित करे जितना वह उचित और आवश्यक समझें.’

PUSU ELECTION 2018: BJP-JDU के लिए बनी प्रतिष्ठा की लड़ाई, वोटरों को रुझाने में रातभर जुटे रहे दिग्गज

इस मामले में न्याय मित्र की भूमिका निभा रहे वरिष्ठ अधिवक्ता विजय हंसारिया ने अपनी रिपोर्ट में कहा कि वर्तमान और पूर्व सांसदों/विधायकों के खिलाफ 4,122 आपराधिक मामले लंबित हैं. रिपोर्ट के अनुसार 4,122 मामलों में से 2,324 तो वर्तमान सांसदों और विधायकों के खिलाफ हैं, जबकि 1,675 मुकदमे पूर्व सांसदों और विधायकों से संबंधित हैं. उन्होंने सुझाव दिया कि प्रत्येक जिले में विशेष अदालतों को सांसदों और विधायकों के खिलाफ आपराधिक मुकदमों की दैनिक आधार पर, विशेष रूप से जिनमें अपराध के लिए उम्र कैद/मौत की सजा हो सकती है, सुनवाई करनी चाहिए. पीठ ने हंसारिया के सुझाव में संशोधन करते हुए कहा कि मनोनीत अदालतों को मौजूदा और पूर्व सांसदों/विधायकों के खिलाफ उम्र कैद और मृत्यु दंड की सजा वाले लंबित अपराध के मामलों की प्राथमिकता के आधार पर सुनवाई करनी चाहिए.

पटना विश्वविद्यालय छात्रसंघ चुनाव : 46 बूथों पर मतदान आज 8 बजे से

पीठ ने कहा कि इस समय उसके निर्देश बिहार और केरल के वर्तमान और पूर्व सांसदों/विधायकों की संलिप्तता वाले मुकदमों पर लागू होंगे. सुप्रीम कोर्ट, अधिवक्ता एवं भाजपा नेता अश्चिनी उपाध्याय की उस याचिका पर सुनवाई कर रही थी जिसमें आपराधिक मामलों में दोष सिद्ध नेताओं पर ताउम्र प्रतिबंध लगाने की मांग की गई थी. याचिका में निर्वाचित प्रतिनिधियों से जुड़े इस तरह के मामलों की तेजी से सुनवाई के लिए विशेष अदालतें गठित करने का भी अनुरोध किया गया है. शीर्ष अदालत ने वर्तमान और पूर्व सांसदों तथा विधायकों के खिलाफ लंबित आपराधिक मामलों का राज्यों और विभिन्न उच्च न्यायालयों से विवरण मांगा था ताकि ऐसे मुकदमों की सुनवाई के लिए पर्याप्त संख्या में विशेष अदालतें गठित की जा सकें.

इन आंकड़ों के अनुसार 264 मामलों की सुनवाई पर उच्च न्यायालयों ने रोक लगा रखी है. इसी तरह अनेक ऐसे मामले भी हैं जो 1991 से लंबित हैं लेकिन इनमें अभी तक आरोप भी निधारित नहीं हुए हैं. इससे पहले की तारीख पर सुनवाई के दौरान न्यायालय ने प्रत्येक जिले में सत्र और मजिस्ट्रेट स्तर की अदालतों को चिह्नित करने और उन्हें प्राथमिकता के आधार पर मुकदमों की सुनवाई करने का निर्देश देने का अनुरोध किया था.

Continue Reading

Breaking News

VIDEO: पीके पहुंचे पटना विश्वविद्यालय वीसी से मिलने, विश्वविद्यालय का माहौल गरमाया

Published

on

पटना विश्वविद्यालय छात्रसंघ चुनाव का प्रचार-प्रसार का दौर सोमवार की शाम थम गया. परंतु विवि का माहौल देर शाम गरमा गया है. आक्रोशित छात्रों ने चुनाव ​फिक्स होने का आरोप लगाते हुए वीसी आवास का घेराव कर उन्हें नजरबंद कर दिया है. मिल रही जानकारी के अनुसार, जदयू उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर देर शाम पटना विश्वविद्यालय अचानक से पहुंचे. वह सीधे वीसी से मिलने उनके कक्ष में गए और बंद कमरे में दोनों के बीच काफी देर तक बातचीत चली. इसकी भनक छात्र संघ के अन्य दलों को लग गयी. वे सभी वीसी कार्यालय के समक्ष इक्ट्ठे हो गए. प्रशांत किशोर के कार्यालय से बाहर निकलते ही जहां छात्र प्रत्यशी और उनके समर्थकों ने उन्हें काला झंडा दिखाना शुरू कर दिया.

वहीं विश्वविद्यालय चुनाव में धांधली होने का आरोप लगाते हुए वीसी आवास का घेराव कर दिया. जो समाचार लिखे जाने तक जारी रहा. गौरतलब हो कि छात्रसंघ चुनाव बीते दो दिनों से राजनीतिक अखाड़ा बन गया है. ऐसा पूर्व जदयू प्रत्याशी के साथ हुई मारपीट के बाद अखिल भारतीय छात्र परिषद के लोगों का इसमें संलिप्ता का आरोप लगाते हुए कार्यालय और कार्यकर्ताओं की गिरफ्तारी के लिए लगातार छापेमारी कराए जाने को लेकर अन्य दलों में रोष व्याप्त है. वहीं बड़े शराब कारोबारी को जदयू ने अपना अध्यक्ष प्रत्याशी बनाकर चुनाव में उतारा है. इसे लेकर भाजपा ने भी अपने साथी दल और नीतीश कुमार के सबसे करीबी प्रशांत किशोर को लेकर विरोध जताना शुरू कर दिया.

प्रशांत किशोर की छात्र संघ चुनाव में ज्यादा सक्रियता ने अन्य विरोधी दल को भी बोलने का मौका दे दिया है. पार्टी ने अपने सबसे बड़े रणनीतिकार और नंबर-2 के अलावा कई अन्य शीर्ष नेता भी चुनाव में बढ़-चढ़कर अपनी भूमिका निभा रहे हैं. लेकिन इनसब के बीच ट्विटर पर पीके जबरदस्त तरीके से ट्रोल हो रहे हैं. जेडीयू ने छात्र संघ चुनाव को प्रतिष्ठा का विषय बना लिया है. पार्टी की छात्र इकाई और और अखिल भारतीय परिषद के छात्रों के बीच तनाव व्याप्त है. एबीवीपी के दफ्तर पर पुलिस की छापेमारी के बाद प्रशांत किशोर ट्विटर पर काफी ट्रोल हो रहे हैं. छात्र उनके लिए एक से एक प्रतिक्रिया दे रहे हैं. कोई फिल्मी पीके से तुलना कर रहा है तो कोई उन्हें ओछी राजनीति न करने की सलाह दे रहे हैं.

 

मालूम हो कि इस बार कैंपस चुनाव में अध्यक्ष समेत 28 पदों पर कुल 115 प्रत्याशी मैदान में हैं. 20 हजार 368 मतदाता इस चुनाव में अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे.  पटना विश्वविद्यालय छात्रसंघ चुनाव के लिए मतदान बुधवार की सुबह आठ बजे से दोपहर दो बजे तक कड़ी सुरक्षा के बीच 14 केंद्रो के 46 बूथों पर वोट डाले जाएंगे. आईडी कार्ड या नामांकन पत्र साथ लाने वाले छात्र ही मतदान कर सकेंगे. निर्वाचन अधिकारी ने प्रत्याशियों को चेताया कि आचार संहिता का उल्लंघन बर्दाश्त नहीं किया जाएगा.

RECOMMENDED

छात्र संघ चुनाव: जदयू अध्यक्ष प्रत्याशी को लेकर तेजस्वी ने सीएम को घेरा

छात्रसंघ चुनाव में ही जदयू और बीजेपी में पड़ी फूट, BJP ने नीतीश के चहेते को दिखायी हैसियत

Continue Reading

Breaking News

सोनपुर मेले में पहुंचे हाथी-घोड़े और भैंस के साथ बाहुबली अनंत सिंह

Published

on

विश्व के सबसे बड़े पशु मेले में बिहार के बाहुबली नेता अनंत सिंह भी आकर्षण का केंद्र बने हुए हैं. विदेशी हैट, काले चश्मे और आन-बान शान के साथ मेले में अनंत सिंह अपने पशु शिविर में घोड़े-हाथी और भैंस के साथ पहुंचे हैं. यहां अनंत सिंह का पशु शिविर लगा है जहां देसी-विदेशी सैलानी उनके शिविर को देखने उमड़ रहे हैं. सोनपुर मेले में मोकामा से निर्दलीय विधायक अनंत सिंह का पशु शिविर है. अनंत सिंह के पशु शिविर में बंधे सिंधी व मारवाड़ नस्ल के तीन घोड़ों की डील-डौल, चुस्ती-फुर्ती और फर्राटा सैलानियों को अपनी तरफ खींच रहा है.

विश्व विख्यात हरिहर क्षेत्र के मेले में अनंत सिंह केवल अपने घोड़ों के साथ नहीं बल्कि 40 लीटर दूध देने वाली गिर नस्ल की गाय और एक नन्हे हाथी के साथ भी आए हैं. इतना ही नहीं, अनंत सिंह स्वयं भी इस मेले के सैलानियों के आकर्षण के केंद्र में हैं. कार्तिक पूर्णिमा के दिन विदेशी हैट और काले चश्मे में अपनी लाव-लश्कर के साथ मेले में जब अनंत सिंह की इंट्री होती है तो न केवल देसी बल्कि विदेशी सैलानी भी उनके पीछे खींचे चले आते हैं.

जापान से मेले का लुत्फ लेने आए आधा दर्जन सैलानियों का एक जत्था अनंत सिंह के घोड़ों, गाय और हाथी के साथ उनकी तस्वीर लेने में व्यस्त था. हरिहर क्षेत्र मेला के एक बड़े भू-भाग में फैले घोड़ा बाजार में बिहार के विभिन्न जिलों के अलावा उत्तर प्रदेश, हरियाणा व पंजाब से कई पशु व्यवसायी अपने विदेशी नस्ल के घोड़ों के साथ आए हैं. इस घोड़ा बाजार में एक शिविर अनंत सिंह के घोड़ों का भी है. अनंत सिंह के शिविर में तीन घोड़े बंधे हैं. इनमें राजा और लाडला सिंधी नस्ल के हैं जबकि बादल मारवाड़ नस्ल का घोड़ा है. इन तीनों घोड़ों की डील-डौल कुछ ऐसी है जो सैलानियों को अपनी तरफ खींच रहा है. इन तीनों घोड़ों की सरपट दौड़ का इंतजार में सैलानी घंटों मेला में इंतजार करते हैं.

इतिहास गवाह है कि कभी मुगल शासकों और अंग्रेजी हुकूमत की सेना के लिए इसी मेले से घोड़ों की खरीद होती थी. यह वही मेला है जहां से स्वतंत्रता संग्राम का बिगुल फूंकने वाले आजादी के अमर सेनानी भी घोड़ों की खरीद करते थे. इसी तरह भैंस बाजार में अनंत सिंह के शिविर में गिर जाफराबादी नस्ल की भैंस भी है. जो प्रतिदिन 40 लीटर दूध देती है. इस भैंस की लंबाई नौ फीट, तीन इंच है. इस गिर जाफराबादी नस्ल की भैंस के सिंग काफी लंबे, चमकदार और मुड़े हुए हैं. जो सैलानियों के आकर्षण का केंद्र बना हुआ है. यहां गिर नस्ल की तीन गायें भी हैं. हाथी बाजार में अनंत सिंह का नन्हा व शरारती हाथी भी है.

Continue Reading
Advertisement
Politics10 hours ago

बीजेपी की हार पर लालू का बड़ा हमला, तो आरजेडी कार्यालय में जश्न का माहौल

Politics6 days ago

पटना यूनिवर्सिटी के अध्यक्ष पद पर JDU का कब्जा, मोहित प्रकाश ने 1211 मतों से हासिल की जीत

Politics7 days ago

तेजस्वी यादव का बंगला खाली कराने पहुंची पुलिस, उग्र हुए बड़े भाई तेजप्रताप, कह डाली यह बात

CRIME7 days ago

पटना यूनिवर्सिटी छात्र संघ चुनाव : पटना साइंस कॉलेज में चली गोली, तीन गिरफ्तार

Breaking News7 days ago

PU छात्रसंघ चुनाव: टाइट सिक्योरिटी के बावजूद पटना कॉलेज के गेट पर छात्र संगठनों के बीच झड़प

Breaking News7 days ago

बिहार और केरल के 4 हजार से ज्यादा सांसदों-विधायकों के खिलाफ मुकदमे निपटाने को सुप्रीम कोर्ट ने बनाया ‘प्लान’

Politics7 days ago

PUSU ELECTION 2018: BJP-JDU के लिए बनी प्रतिष्ठा की लड़ाई, वोटरों को रुझाने में रातभर जुटे रहे दिग्गज

Trending7 days ago

पीयू छात्रावासों में देर रात छापा, चुनाव प्रभावित करने को जुटे 12 संदिग्ध हिरासत में

Trending7 days ago

PUSU ELECTION 2018: कॉलेज के बाहर एक साथ चार खड़े हुए तो हो जाएंगे गिरफ्तार

Politics1 week ago

पटना विश्वविद्यालय छात्रसंघ चुनाव : 46 बूथों पर मतदान आज 8 बजे से

Politics1 week ago

VC आवास से बाहर निकलते ही ‘PK’ पर हुआ हमला, बाल-बाल बचे

Politics1 week ago

PU छात्रसंघ चुनाव: PK के आगे VC के सरेंडर पर मचा बवाल, VC आवास पहुंची कई थानों की पुलिस

Breaking News1 week ago

VIDEO: पीके पहुंचे पटना विश्वविद्यालय वीसी से मिलने, विश्वविद्यालय का माहौल गरमाया

Politics1 week ago

होटल का खाना खाकर ऊबे तेजप्रताप तो दोस्त के घर पहुंचे,खाया लिट्टी-चोखा

Politics1 week ago

छात्र संघ चुनाव: जदयू अध्यक्ष प्रत्याशी को लेकर तेजस्वी ने सीएम को घेरा

Videos3 months ago

Krishna Janmashtami 2018: जन्माष्टमी की रात करें ये खास उपाय, पूरी होंगी मनोकामनाएं

Videos4 months ago

बिहार के कांग्रेस विधायक की बेटी बनी जॉन अब्राहम की हीरोइन, देखें HOT PHOTO VIDEO

Videos4 months ago

Video: स्वतंत्रता दिवस पर कोहली ने धवन, पंत संग देशवासियों को दिया विराट ‘Challenge’

Trending4 months ago

Video: नहीं रहे पलामू के धरती पूत्र पूर्व राज्यपाल भीष्म नारायण सिंह

Videos5 months ago

अकेले में देखें देशी गर्ल PRIYANKA CHOPRA की यह VIDEO, जगा देगी मर्दांगी

Videos5 months ago

BJP और NDA भगाओ साइकिल यात्रा से पहले खुद ही साइकिल से गिर पड़े तेजप्रताप

Videos5 months ago

बिहार की शान ISHAN KISHAN हुए 20 के, चाहने वालों ने केक काटकर मनाया जन्मदिन

Videos5 months ago

दो-दो लड़कों से प्रेम करना हिना खान को पड़ गया महंगा

Bollywood5 months ago

शादी के बाद नेहा धूपिया ने बिखेरे हॉटनेस के जलवे, सेक्सी वीडियो वायरल

Videos5 months ago

जानें क्यों माही ने कहा उनमें कॉमन सेंस नहीं

Astrology5 months ago

तुला वालों को आज मिल सकता है प्रमोशन, देखें आपके राशिफल में है क्या?

Uncategorized11 months ago

Biharimati wishes Happy New Year नव-वर्ष की पावन बेला में है यही शुभ संदेश हर दिन आये आपके जीवन में लेकर खुशियां विशेष.

Bihar1 year ago

कैबिनेट की मीटिंग हुई खत्म, तेजस्वी का नहीं आया कोई फैसला

Sports1 year ago

Boxing continues to knock itself out with bewildering, incorrect decisions

Trending

Copyright © 2018 Biharimati Powered by Leadpanther.