Connect with us

events

विश्व प्रसिद्ध सोनपुर मेला का शुभारंभ आज से, कभी बिकते थे जानवरों संग महिला और पुरुष

Published

on

513 Views

विश्व प्रसिद्ध सोनपुर मेले की शुरुआत आज से हो रही है. डिप्टी सीएम सुशील मोदी मेले का उद्घाटन करेंगे. मेले को लेकर प्रशासन ने पूरी तैयारी कर ली है. अधिकारियों के मुताबिक, इस बार का मेला काफी हाइटेक होने वाला है. वहीं, कहा जाता है कि विश्व प्रसिद्ध इस मेले में कभी महिला और पुरूष भी बेचे जाते थे. मेले का शुभारंभ अनुप जलोटा के कार्यक्रम से होगा. हर साल कार्तिक पूर्णिमा पर शुरू होने वाला सोनपुर मेला नवंबर से दिसंबर तक चलता है. यह मेला एक महीने तक चलता है. लेकिन इस बार मेला 32 दिनों तक चलेगा. इस मेले में इंडिया ही नहीं विदेशी से भी भारी संख्या में लोग आते हैं. वहीं, मेले में हर साल की तरह कई तरह के कार्यक्रम भी आयोजित किए गए हैं.

मेले में बहुत सारे जानवर नहीं आएंगे नजर
वैसे तो हाथी पालने का शौक खत्म सा होता जा रहा है, लेकिन मेले में हर साल कई हाथी बिकते रहे हैं. इसके अलावा गाय, बैल, भैंस और ऊंट की भी बिक्री होती रही है. लेकिन, इस बार मेले में हाथियों के आने की संभावना कम ही लग रही है. यह मेला सोनपुर से हाजीपुर में नदी किनारे कई किलोमीटर लंबा होता है.

किसी जमाने में महिला-पुरुष भी बिकते थे
मेले के बारे में बात करने पर लोग बताते हैं कि किसी दौर में मेले में सब कुछ बिकता था. यहां तक की गुलाम के तौर पर महिला और पुरूष भी बिकते थे. बदलते वक्त के साथ काफी कुछ बदला है, लेकिन सोनपुर मेला अभी भी बरकरार है.

विदेशी पर्यटकों के आग्रह पर लाया गया था हाथी
पिछले साल विदेशी पर्यटकों ने सरकार से मेले में हाथी लाने का आग्रह किया था. उसके बाद सिर्फ एक घंटे के लिए केवल एक हाथी ही लाया गया था. वन्य प्राणी अधिनियम 2003 के तहत हाथियों की खरीद-बिक्री पर रोक लगा दी गई है.

पशु और पक्षियों के व्यापक प्रदर्शनी पर रोक
मालूम हो कि वन्य प्राणी अधिनियम 2003 के तहत हाथियों की खरीद-बिक्री पर रोक लगा दी गई है. नगर पंचायत के कार्यपालक अभियंता शिवनाथ ठाकुर ने बताया कि इस बार मेला में सभी पशु और पक्षियों के व्यापक प्रदर्शनी पर रोक लगाई गई है. ऐसा विभागीय कार्यवाही के तहत किया गया है.

हाथी लाने के लिए लंबी प्रक्रिया से गुजरना पड़ेगा
कार्यपालक अभियंता ने बताया कि हाथी और पक्षियों को बिना प्रताड़ित किए बिक्री के लिए लाया जा सकता है. इसके लिए कोई मनाही नहीं है. लेकिन, हाथी को विभागीय प्रक्रिया से गुजरना पड़ेगा.

हाथी का निबंधन कराकर लगाया जाएगा चिप
वहीं, अगर हाथी मालिक हाथी को बिना रजिस्ट्रेशन कराए लाएगा तो उसपर विभागीय कार्रवाई भी की जाएगी. विभाग की ओर से उस हाथी को जब्त भी करने का आदेश है. विभाग की ओर से उसी वक्त हाथी का निबंधन कराकर उसे चिप लगाया जाएगा. अधिकारियों के मुताबिक, लोग आधुनिकता के दौर में नए उपकरणों का इस्तेमाल करने लगे. वो घर हो या फिर खेती, जिस वजह से बैल और हाथी की संख्या में कमी होती चली गई. एक वक्त वो भी था जब सोनपुर के विश्व प्रसिद्ध पशु मेला में पशुओं की खूब बिक्री होती थी. लेकिन धीरे-धीरे अब यह प्रचलन खत्म होने के कगार पर है.

इस बार मेले की कॉन्सेप्ट में है बदलाव
सोनपुर के विश्व प्रसिद्ध पशु मेला से लोगों की यह धारणा बन गई थी कि यहां सिर्फ पशु और पक्षी ही देखने को मिलेंगे. लेकिन, इस बार मेले की कॉन्सेप्ट पूरी तरह से बदली रहेगी. मेले की तैयारियां हाईटेक ढंग से हो रही है.

आगंतुकों को नहीं होगी कोई कमी
देश-विदेश के विभिन्न क्षेत्रों से आने वाले आगंतुकों को किसी चीज की कमी न हो, इसके लिए भी सकारात्मक कदम उठाए जा रहे हैं. मेले में वो सभी चीजों को सुनिश्चित कराने पर बल दिया जा रहा है, जिससे इसकी ख्याति पहले से कहीं ज्यादा हो सके. इस बार सोनपुर के विश्व प्रसिद्ध पशु मेला में लोगों के मनोरंजन के लिए हर सुविधाओं का खयाल रखा जा रहा है. इस बार मेले में एंटरटेनमेंट, मनोरंजन, थियेटर आदि चीजों की व्यवस्था रहेगी. इससे बिहार सरकार के राजस्व को भी फायदा होगा. बता दें कि मेला की तैयारी को लेकर सारण जिले के डीएम लगातार मॉनिटरिंग कर रहे हैं.

Continue Reading
Advertisement https://biharimati.com/wp-content/uploads/2018/08/709053-protest-in-patna-pti.jpg
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

events

आधुनिक शिक्षा के दौर में नि:शुल्क वैदिक युगीन शिक्षा ही काशी वेद वेदांग विद्यापीठ का मूल उद्देश्य

Published

on

मानव सन्तान को शिक्षित करने के लिए एक पाठशाला या विद्यालय की आवश्यकता होती है. बच्चा घर पर रह कर मातृ भाषा तो सीख जाता है परन्तु उस भाषा, उसकी लिपि व आगे विस्तृत ज्ञान के लिए उसे किसी पाठशाला, गुरुकुल या विद्यालय मे जाकर अध्ययन करना होता है. केवल भाषा से ही काम नहीं चलता अपितु अनेक विषय हैं जिनका ज्ञान गुरुकुल, पाठशाला या विद्यालय में कराया जाता है.

शिक्षा पद्धति की चर्चा आने पर आजकल मुख्य रूप से पब्लिक स्कूल पद्धति प्रचलित है जहां बच्चे को प्रायः अंग्रेजी भाषा के माध्यम से अध्ययन कराया जाता है और इसी भाषा के माध्यम से उसे गणित, साइंस व कला की शिक्षा दी जाती है. इंटर या ग्रेजुएशन करले ने पर वह इंजीनियरिंग, मेडीकल साइंस आदि अपने इच्छित विषय को लेकर व्यवसायिक कोर्स या स्नातक व स्नातकोत्तर उपाधियां प्राप्त कर सकता है जिसके बाद उसे रोजगार मिल जाता है और वह सुख-सुविधा पूर्वक जीवन व्यतीत करता है. दूसरी शिक्षा पद्धति हमारी प्राचीन गुरुकुलीय पद्धति है. गुरुकुल का उद्देश्य बालक का शारीरिक, बौद्धिक, मानसिक व आत्मिक सर्वागीण विकास करना होता है.

काशी में एक ऐसा ‘गुरुकुल’ भी है जो आधुनिकता की आबोहवा के बीच वैदिक युगीन शिक्षा और गुरु-शिष्य परंपरा की मिसाल है. पिछले कई वर्षों से इस केंद्र में देश के विभिन्न राज्यों के 8 से 11 वर्ष तक के बच्चे शिक्षा ग्रहण कर रहे हैं.
संपूर्णानंद संस्कृत विश्वविद्यालय, जगतगंज के सामने स्थित काशी वेद वेदांग विद्यापीठ एंव ज्योतिष शोध संस्थान में शिक्षा के साथ ही छात्रों को सुयोग्य गुरु के सानिध्य में दीक्षा भी दी जाती है. यहां के विद्यार्थियों को प्रतिदिन आचार्या के कुशल निर्देशन में वेद, पूजा-पाठ, ज्योतिष विज्ञान आदि की शिक्षा दी जाती है. इन्हें प्रथमा, मध्यमा से लेकर शास्त्री आचार्य तक की शिक्षा दी जाती है.

विद्यार्थियों को वेदों के सस्वर पाठ का भी नियमित अभ्यास कराया जाता है. खासियत यह है कि यहां सिर्फ आठ से 11 आयु के बच्चों का ही प्रवेश लिया जाता है. सामूहिक मंत्रपाठ, हवन-पूजन, योगासन की कक्षाएं चलती हैं. प्रत्येक मध्यमा में 35 बच्चों के ही शिक्षा, रहने-खाने, वैदिक पोशाक आदि की व्यवस्था विद्यापीठ की जिम्मेदारी है.

राम नारायण सेवा संस्थान के द्वारा संचालित विद्यापीठ के मुख्य आचार्य किशोर झा जी का कहना है कि शिक्षा प्रणाली में गुरु-शिष्य सानिध्य गुरुकुल में रहकर ही हो सकता है. शिष्य का यह दायित्व है कि वह आचार्य के बताए मार्ग का अनुसरण करे. इस समय शिक्षा के अधिकांश केंद्र अर्थ प्रधान हो गए हैं. ऐसे में वहां विद्या दायित्व का बोध कम ही दिखता है. शिक्षकों की जिम्मेदारी है कि वह दायित्वों का सजगता पूर्वक निर्वहन करें.

दिनचर्या : गुरुकुल की दिनचर्या में कड़ा अनुशासन होता है. जैसे, प्रात: 5 बजे प्रार्थना, स्नान, सूर्यनमस्कार, योगासन, गायत्री मंत्र का जप इत्यादि कृत्य होते हैं. तदुपरांत दिन में पाठ होते हैं. तत्पश्चात् विश्राम कर पुन: पाठ होते हैं. सूर्यास्त से दस-पंद्रह मिनट पूर्व अध्ययन बंद करते हैं. तदुपरांत संध्या स्तोत्र पठन एवं थोड़ा सा उपाहार. विश्राम, अध्यन-अध्यापन.

आर्थिक सहायता: हमारा शिक्षण संस्थान कभी भी शासन की सहायता पर निर्भर नहीं रही एवं आज भी नहीं हैं. समाज के व्यक्ति ही उन्हें धन देते हैं एवं ऐसा कर वे स्वयं को कृतार्थ मानते हैं. शासन कभी शिक्षा प्रणाली अथवा संस्थानों में हस्तक्षेप नहीं करता था. हमारी प्राचीन राजनीति तथा शासन प्रणाली का यह दंडक होता था. शिक्षा क्षेत्र पूर्णतः स्वायत्त होता था.

सनातन और वैदिक शिक्षा के माध्यम से अपने बच्चों के सर्वागीण विकास के साथ-साथ समाज और देश के विकास की सोच रखने वालों के लिए काशी वेद वेदांग विद्यापीठ के कार्यालय पंचशील अपार्टमेंट, विवेकानंद कॉलोनी, संपूर्णानंद संस्कृत विश्वविद्यालय के सामने, जगतगंज, वाराणसी या दूरभाष संख्या 01204593661, 06391913131 पर संपर्क कर सकते हैं.

 

 

There is also a ‘Gurukul’ in Kashi, which is an example of Vedic age education and Guru-disciple tradition between the climate of modernism. For the last several years, children from 8 to 11 years of various states of the country are studying in this center.
With the education of Kashi Ved Vedang Vidyapeeth and Astrology Research Institute located in front of the entire Sanskrit University, Jagatganj, students are also given diksha in the connivance of a qualified guru.

Continue Reading

events

विराट अनुष्का मुंबई रिसेप्शन: बॉलिवुड और क्रिकेट जगत की हस्तियां हुई शामिल

Published

on

https://twitter.com/ViratCrew/status/945684222936616967

https://www.instagram.com/p/BdK4PcuA8i2/

 

https://www.instagram.com/p/BdK2xPBAR6_/

https://www.instagram.com/p/BdK4Offgedp/

 

https://www.instagram.com/p/BdK4WmqAoTi/

https://www.instagram.com/p/BdK4LvDgCh7/

 

https://www.instagram.com/p/BdK6VQdAL9b/

https://www.instagram.com/p/BdK6j-RAW2k/

https://twitter.com/ViratCrew/status/945679792707330048

Continue Reading

BIHARI Charcha

5000 से ज़्यादा NRI भारतीय आएंगे पटना सरकार ने किये पुख्ता इंतज़ाम

Published

on

5000 से ज़्यादा NRI भारतीय आएंगे पटना सरकार ने किये पुख्ता इंतज़ाम

तख्त श्री हरमंदिर साहिब के प्रबंध समिति के महासचिव सरंजेंद्र सिंह ने कहा, 5000 से अधिक अनिवासी भारतीयों ने इस वर्ष 22 दिसंबर से 26 दिसंबर तक गुरु गोबिंद सिंह की 350 वीं जयंती के समापन समारोह में भाग लेने की उम्मीद की है।

कनाडा, अमेरिका, ब्रिटेन, दक्षिण अफ्रीका और कुछ अन्य अफ्रीकी देशों से भक्तों की उम्मीद है। समिति ने करीब दो लाख भक्तों को 5 करोड़ रुपये की लागत से समायोजित करने की व्यवस्था की है।

राज्य सरकार  की पहल की सराहना करते हुए सिंह ने कहा कि सरकार ने शेल्टर का निर्माण किया – एक बाईपास सड़क पर और दूसरा कंचन घाट में लगभग 50,000 तीर्थयात्रियों के लिए। सरकार पटना के विभिन्न भागों से पटना साहिब गुरुद्वारा तक 200 बसों में मुफ्त में भक्तों की सेवा करेगी ।

उन्होंने कहा कि सरकार ने गंगा के ऊपर कंगन घाट से गंगा घाट तक तीर्थयात्रियों को परिवहन के लिए तीन नौकाएं भी प्रदान की हैं। प्रत्येक नाव लगभग 200 लोगों को ले जा सकती है।

समिति ने पर्यटकों के लिए आवास उपलब्ध कराने के लिए 350 कमरे वाले सराय की स्थापना की है। इसके अलावा, दूसरे कमरे में 60 कमरों को बुक किया गया है। वीआईपी के लिए एक सौ वातानुकूलित कमरे भी उपलब्ध होंगे।

सिंह ने कहा, “गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी द्वारा चलाए जा रहे चार स्कूलों को भी आवास के लिए आरक्षित किया गया है।” सरकार ने 18 दिसंबर से 26 दिसंबर तक निवास के लिए पटना में 12 सरकारी स्कूलों को प्रदान किया है।

 

Continue Reading
Advertisement
Politics17 mins ago

लालू यादव को सताने लगी स्वास्थ्य की चिंता, मांगी जमानत

Politics11 hours ago

बीजेपी की हार पर लालू का बड़ा हमला, तो आरजेडी कार्यालय में जश्न का माहौल

Politics6 days ago

पटना यूनिवर्सिटी के अध्यक्ष पद पर JDU का कब्जा, मोहित प्रकाश ने 1211 मतों से हासिल की जीत

Politics7 days ago

तेजस्वी यादव का बंगला खाली कराने पहुंची पुलिस, उग्र हुए बड़े भाई तेजप्रताप, कह डाली यह बात

CRIME7 days ago

पटना यूनिवर्सिटी छात्र संघ चुनाव : पटना साइंस कॉलेज में चली गोली, तीन गिरफ्तार

Breaking News7 days ago

PU छात्रसंघ चुनाव: टाइट सिक्योरिटी के बावजूद पटना कॉलेज के गेट पर छात्र संगठनों के बीच झड़प

Breaking News7 days ago

बिहार और केरल के 4 हजार से ज्यादा सांसदों-विधायकों के खिलाफ मुकदमे निपटाने को सुप्रीम कोर्ट ने बनाया ‘प्लान’

Politics7 days ago

PUSU ELECTION 2018: BJP-JDU के लिए बनी प्रतिष्ठा की लड़ाई, वोटरों को रुझाने में रातभर जुटे रहे दिग्गज

Trending1 week ago

पीयू छात्रावासों में देर रात छापा, चुनाव प्रभावित करने को जुटे 12 संदिग्ध हिरासत में

Trending1 week ago

PUSU ELECTION 2018: कॉलेज के बाहर एक साथ चार खड़े हुए तो हो जाएंगे गिरफ्तार

Politics1 week ago

पटना विश्वविद्यालय छात्रसंघ चुनाव : 46 बूथों पर मतदान आज 8 बजे से

Politics1 week ago

VC आवास से बाहर निकलते ही ‘PK’ पर हुआ हमला, बाल-बाल बचे

Politics1 week ago

PU छात्रसंघ चुनाव: PK के आगे VC के सरेंडर पर मचा बवाल, VC आवास पहुंची कई थानों की पुलिस

Breaking News1 week ago

VIDEO: पीके पहुंचे पटना विश्वविद्यालय वीसी से मिलने, विश्वविद्यालय का माहौल गरमाया

Politics1 week ago

होटल का खाना खाकर ऊबे तेजप्रताप तो दोस्त के घर पहुंचे,खाया लिट्टी-चोखा

Videos3 months ago

Krishna Janmashtami 2018: जन्माष्टमी की रात करें ये खास उपाय, पूरी होंगी मनोकामनाएं

Videos4 months ago

बिहार के कांग्रेस विधायक की बेटी बनी जॉन अब्राहम की हीरोइन, देखें HOT PHOTO VIDEO

Videos4 months ago

Video: स्वतंत्रता दिवस पर कोहली ने धवन, पंत संग देशवासियों को दिया विराट ‘Challenge’

Trending4 months ago

Video: नहीं रहे पलामू के धरती पूत्र पूर्व राज्यपाल भीष्म नारायण सिंह

Videos5 months ago

अकेले में देखें देशी गर्ल PRIYANKA CHOPRA की यह VIDEO, जगा देगी मर्दांगी

Videos5 months ago

BJP और NDA भगाओ साइकिल यात्रा से पहले खुद ही साइकिल से गिर पड़े तेजप्रताप

Videos5 months ago

बिहार की शान ISHAN KISHAN हुए 20 के, चाहने वालों ने केक काटकर मनाया जन्मदिन

Videos5 months ago

दो-दो लड़कों से प्रेम करना हिना खान को पड़ गया महंगा

Bollywood5 months ago

शादी के बाद नेहा धूपिया ने बिखेरे हॉटनेस के जलवे, सेक्सी वीडियो वायरल

Videos5 months ago

जानें क्यों माही ने कहा उनमें कॉमन सेंस नहीं

Astrology5 months ago

तुला वालों को आज मिल सकता है प्रमोशन, देखें आपके राशिफल में है क्या?

Uncategorized11 months ago

Biharimati wishes Happy New Year नव-वर्ष की पावन बेला में है यही शुभ संदेश हर दिन आये आपके जीवन में लेकर खुशियां विशेष.

Bihar1 year ago

कैबिनेट की मीटिंग हुई खत्म, तेजस्वी का नहीं आया कोई फैसला

Sports1 year ago

Boxing continues to knock itself out with bewildering, incorrect decisions

Trending

Copyright © 2018 Biharimati Powered by Leadpanther.