Connect with us

Politics

नीतीश के बयान पर भड़के कुशवाहा, मांगी डीएनए रिपोर्ट, जदयू ने भी किया पलटवार

Published

on

558 Views

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के बयान पर भड़के केंद्रीय मंत्री उपेंद्र कुशवाहा ने उनसे उनकी डीएनए रिपोर्ट मांग ली है. इस पर जदयू ने करारा पलटवार करते हुए कहा है कि कुशवाहा पेट के दर्द के लिए सिर दर्द की दवा ले रहे हैं. दरअसल, शनिवार को उपेंद्र कुशवाहा को लेकर पूछे गए एक सवाल पर नीतीश कुमार ने कहा था, ‘सवाल जवाब के स्तर को इतना नीचे मत ले जाइए.’ इस बयान से नाराज कुशवाहा ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी के भाषण पर राज्य भर से बाल और नाखून भेजने वाले दूसरे को ‘नीच’ कह रहे हैं, इसलिए वे अपना डीएनए रिपोर्ट दिखाएं.

केंद्रीय मंत्री के इस बयान पर जदयू प्रवक्ता नीरज कुमार ने कहा कि कुशवाहा पेट के दर्द के लिए सिर दर्द की दवा ले रहे हैं. उन्होंने कहा कि जो कल नीतीश को बड़ा भाई बता रहे थे अब उनको नीतीश का डीएनए चाहिए. सूत्र बताते हैं कि एनडीए में शीट शेयरिंग को लेकर बड़ा पेंच फंसा हुआ है. माना जा रहा है कि उपेंद्र कुशवाहा का उक्त बयान ज्यादा से ज्यादा सीटों की दावेदारी को लेकर भी दिया गया है. वैसे, बिहार की राजनीति के दोनों दिग्गज एक दूसरे पर पहले से ही जुबानी तीर चलाते रहे हैं. दरअसल मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने एक चैनल पर इंटरव्यू के दौरान इशारों ही इशारों में उपेंद्र कुशवाहा पर निशाना साधा था. इंटरव्यू में नीतीश कुमार से पूछा गया कि क्या आपकी उपेंद्र कुशवाहा से सीट शेयरिंग की बात हुई है तो उन्होंने कहा कि नीच राजनीति नहीं होनी चाहिए.

इसी पर रालोसपा प्रमुख ने मुजफ्फरपुर में खुले मंच से कहा कि उपेंद्र कुशवाहा नीच कैसे हो गया, मुझे ये सुनकर तकलीफ हुई है. हम पिछड़ों और गरीबों की आवाज़ उठा रहे हैं इसलिए नीच हैं? उन्होंने सवाल दागते हुए कहा कि नीतीश कुमार ने मुझे नीच कहा, जो कि स्वस्थ राजनीति के लिए अच्छी बात नहीं है. उपेंद्र कुशवाहा कहा कि पिछली बार हम 3 जगह से लड़े थे और तीनों जगह जीते थे. आपने मुझे जितनी ताकत सदन में दी, वो छोटी है. पिछली बार हमारा आंकलन तीन सीट के लिए किया गया, लेकिन पांच सालों में हमारी ताकत बढ़ी है, हमारी ताकत बढ़ी है तो सदन में भी हमारी संख्या ज्यादा होनी चाहिए. मुजफ्फरपुर के लंगट सिंह कॉलेज में आयोजित कार्यक्रम में उपेंद्र कुशवाहा ने कहा कि लोकसभा चुनाव में हमारी कद के अनुसार हमें सीट चाहिए. हम पहले से ज्यादा ताकतवर हुए हैं, इसलिए हमलोग सम्मान जनक समझौता चाहते हैं.

RECOMMENDED

तेजप्रताप ने ऐश्वर्या को लेकर किया बड़ा ही गंभीर खुलासा, मान जाता तो हिल जाता पूरा लालू परिवार

तेजप्रताप के वकील दोस्त की हो गई है राबड़ी आवास में पिटाई, ससुर चंद्रिका राय ने जड़ा थप्पड़

Politics

तेजप्रताप को मां राबड़ी ने फोन कर समझाया, पटना लौटकर वापस ले सकते हैं तलाक की अर्जी

Published

on

तेजप्रताप यादव के पत्नी ऐश्वर्या राय से तलाक लेने के फैसले यादव परिवार अब भी गमजदा है. तेजप्रताप को मनाने के लिए हर कोशिश की जा रही है. लेकिन तेज किसी की भी बात मानने को राजी नहीं है. आज गुरूवार को तेजप्रताप को मां राबड़ी देवी ने फोन पर समझाने की कोशिश की है. दोनों मां-बेटे में काफी लंबी बातचीत की खबर आ रही है.

MUST READ: तेजस्वी देर शाम पिता से मिलकर पटना आये, बोले – मुझे परिवार की चिंता नहीं

ऐश्वर्या से तलाक की अर्जी कोर्ट में दायर करने के बाद तेजप्रताप लंबे समय से मथुरा में हैं. बता दें कि गोवर्धन परिक्रमा के बाद उकने तबीयत भी बिगड़ी थी. कयास लगाए जा रहे हैं कि राबड़ी देवी ने तबीयत जानने के साथ ही तेज ऐश्वर्या के बारे में भी बात की है. आज ही तेजप्रताप का यह बयान भी आया था कि वे कार्तिक मास के बाद पटना जा सकते हैं. अपनी इस यात्रा पर तेजप्रताप ने ब्रज चौरासी कोस यात्रा के प्रमुख स्थलों के दर्शन किए हैं.

मां से बात के बाद क्या मान जाएंगे तेजप्रताप
याद दिला दें कि इससे पहले खबरें आईं थी कि राजद प्रमुख लालू प्रसाद व पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी के परिवार ने करीब-करीब तय कर लिया है कि तेजप्रताप यादव वृंदावन में बांसूरी बजाएं, पूरा परिवार उनकी पत्नी ऐश्वर्या के साथ खड़ा रहेगा. खुद लालू प्रसाद और अन्य परिजनों द्वारा बहुत समझाने के बाद भी तेज प्रताप अपने ‘हठ’ पर कायम हैं. लेकिन आज की राबड़ी देवी और तेजप्रताप की बातचीत के बाद कयास लगाए जा रहे हैं कि तेजप्रताप कुछ नरम पड़ सकते हैं.

MUST READ: लालू के कन्हैया की फिर बिगड़ी तबीयत, बिना खाए-पिए नंगे पांव की गोवर्धन पर्वत की परिक्रमा

तेजस्वी ने कहा था कि हमें परिवार की नहीं, जनता की चिंता
सूत्रों के अनुसार तेजस्वी प्रसाद यादव की लालू प्रसाद से शनिवार को मुलाकात में सब कुछ स्पष्ट हो गया है. तेजप्रताप की फिक्र किए बिना परिवार आगे बढ़ेगा. खुद तेजस्वी ने शनिवार की रात पटना लौटने के बाद इसके संकेत दिए और मीडिया से बातचीत में कहा कि हमें परिवार की चिंता नहीं है, जो होना है, होगा. सभी सक्षम हैं. हमें देश की चिंता करनी है. सूत्रों की मानें तो तेजस्वी ने जो भी कहा वह लालू प्रसाद के कहे मुताबिक था. जब तेजप्रताप को परिवार की चिंता नहीं तो परिवार को उनकी चिंता क्यों हो.

लोकसभा चुनाव 2019 पर फोकस
सूत्रों के अनुसार लालू परिवार यह कोशिश करेगा कि तेजप्रताप के तलाक प्रकरण को बहुत अधिक मीडिया फुटेज न मिलें. परिवार व पार्टी 2019 के चुनाव को लेकर फोकस करेगा. तेजप्रताप ने जिन्हें तलाक की अर्जी में बतौर गवाह दिखाने की कोशिश की है, उसमें कोई पड़ना नहीं चाहेगा. परिवार का मानना है कि तेजप्रताप की शादी जबर्दस्ती नहीं, बल्कि सब कुछ खुशी-खुशी हुआ था.

Continue Reading

Politics

NDA से मिली चोट ने उपेन्द्र और अरुण को फिर किया एक, महागठबंधन में जाने की तैयारी!

Published

on

NDA से मिली चोट ने उपेन्द्र कुशवाहा और अरुण कुमार के बीच की दुश्मनी खत्म करा दिया है. दोनों नेता एक बार फिर एक दूसरे के जख्मों पर मरहम लगायेंगे. चर्चाओं की मानें तो कुशवाहा और अरुण कुमार एक साथ मिलकर राजद-कांग्रेस के महागठबंधन में इंट्री मारने की तैयारी में है.  जानकार सूत्रों के मुताबिक सांसद अरुण कुमार बकायदा प्रेस कांफ्रेस कर ‘नीच’ प्रकरण में उपेन्द्र कुशवाहा का समर्थन करेंगे. तीन साल पहले अनंत सिंह को लेकर नीतीश कुमार का कलेजा तोड़ने की धमकी देने वाले अरुण कुमार अब उपेन्द्र के लिए बिहार के मुख्यमंत्री को चेतायेंगे. सूत्रों की मानें तो लंबे अर्से बाद दोनों नेताओं में बातचीत हुई है और साथ चलने पर सहमति बन गयी है.

MUST READ: दुर्भाग्य है कि मुझे बिहारी कहा जाता है: कीर्ति आजाद

दरअसल उपेन्द्र कुशवाहा और अरुण कुमार ने साथ मिलकर RLSP को बनाया था. लेकिन 2015 के विधानसभा चुनाव के बाद दोनों की राहें जुदा हो गयीं. अरुण कुमार ने उपेन्द्र कुशवाहा पर भ्रष्टाचार और चरित्रहीनता जैसे गंभीर आरोप लगाये थे और अलग गुट बना लिया था. पार्टी के एक विधायक ललन पासवान भी अरुण कुमार के साथ आ गये थे. अरुण को उम्मीद थी कि NDA उन्हें कम से कम लोकसभा की एक सीट जरूर देगा. लेकिन ना नीतीश और ना ही बीजेपी ने उनका नोटिस लिया.

जानकारों की मानें को NDA में उपेन्द्र कुशवाहा को जगह नहीं मिली. भाजपा-जदयू ने अपने लिए 17-17 और LJP के लिए 6 सीट का फार्मूला तय कर लिया है. सूत्रों की मानें तो उपेंद्र कुशवाहा और अरुण कुमार शरद यादव की अगुवाई में महागठबंधन में इंट्री मारने की तैयारी में है. दोनों नेता शरद से मिल चुके हैं. जानकारों के मुताबिक शरद यादव ने उन्हें भरोसा दिलाया है कि तीनों मिल कर महागठबंधन से 6 सीट ले सकते हैं, जिसे आपसी सहमति के आधार पर बांटा जा सकता है.

MUST READ: NDA ने ‘बागी’ उपेंद्र कुशवाहा को दिया ‘बड़ा झटका’, एक भी सीट नहीं दी जाएगी- सूत्र

शरद उस हालात की भी परिकल्पना कर रहे हैं जब राजद और कांग्रेस के बीच सीटों के बंटवारे पर सहमति नहीं बनेगी. शरद, उपेंद्र और अरुण कुमार की तिकड़ी तब कांग्रेस से तालमेल कर चुनाव लड़ सकती है. तब सीटों की संख्या भी बढ जायेगी. दरअसल शरद यादव को लालू यादव भाव नही दे रहे हैं और ऐसे में उपेंद्र-अरूण का साथ उनकी सियासत की रूक रही साँसों को फिर से सही कर सकती है.

Continue Reading

Politics

दुर्भाग्य है कि मुझे बिहारी कहा जाता है: कीर्ति आजाद

Published

on

साफ कर दूं कि मैं किसी भी सूरत में लोकसभा चुनाव दरभंगा सीट से ही लड़ूंगा. किस पार्टी से चुनाव लड़ेंगे, इस बारे में अभी कुछ कह पाना मुश्किल है. यह कहना है सांसद कीर्ति आजाद का. वहीं, इस दौरान उन्होंने अलग मिथिलांचल राज्य की मांग दोहराई है. कहा कि दुर्भाग्य है कि मुझे बिहारी कहा जाता है, हम मिथिलांचलवासी हैं. बीजेपी से निलंबित सांसद कीर्ति झा आजाद ने कहा कि पार्टी ने उनके साथ अन्याय किया है. बीजेपी की मैंने कई वर्षों तक सेवा की. मैंने पार्टी नहीं छोड़ी है, बल्कि बिना गलती के मुझे पार्टी से निकाला गया है. उन्होंने कहा कि अगर भ्रष्टाचार उजागर करना बगावत है तो हां मैं बागी हूं, हजारों बार ऐसी बगावत करता रहूंगा.

वहीं, ‘नीच’शब्द को लेकर नीतीश कुमार और उपेंद्र कुशवाहा के बीच मचे घमासान पर कीर्ति ने कहा कि कुशवाहा बहुत ही सम्मानित व्यक्ति हैं. मैंने कहीं पढ़ा कि उन्हें नीच कहा गया है, ऐसे शब्दों का प्रयोग नहीं किया जाना चाहिए, भाषा पर संयम होनी चाहिए. अगर नीतीश कुमार ने नीच नहीं कहा है तो अच्छी बात है. मैं व्यक्तिगत रूप से वैसे भी नीतीश कुमार का काफी सम्मान करता हूं. कीर्ति आजाद ने कहा कि 2005 से 2010 तक बिहार में जेडीयू-बीजेपी गठबंधन की सरकार काफी अच्छे से चली. आज परिस्थिति ऐसी है कि अस्पताल नहीं है, अस्पताल है तो डॉक्टर नहीं है, दवाई नहीं है और दवाई है भी तो वह एक्सपायरी दवाई है.

MUST READ: कुशवाहा के समर्थन में आए सीपी ठाकुर, कहा- उनके जाने से NDA को नुकसान

दरभंगा सांसद ने कहा कि बिहार विधानसभा चुनाव के वक्त पीएम मोदी ने बिहार को एक लाख 60 हजार करोड़ रुपए देने की बात कही थी. मैं पूछना चाहता हूं कि वह पैसा कहां गया? उन्होंने कहा कि जब मैं अपने क्षेत्र में जाता हूं तो लोग पूछते हैं कालाधन वापस क्यों नहीं आया? 2 करोड़ रोजगार का क्या हुआ? 15 लाख रुपया हर व्यक्ति के बैंक अकाउंट में क्यों नहीं आया? स्मार्ट सिटी का क्या हुआ?

MUST READ: VIDEO: बिहार आने का साहस नहीं अल्पेश ठाकोर में: सुशील मोदी

कीर्ति आजाद ने कहा कि नोटबंदी के बाद कई लोगों की नौकरियां छुट गई और वह सब वापस गांव आ गए, अगर साकारात्मक सवाल पूछा जाता है तो कहा जाता है कि आप देशद्रोही हैं और पाकिस्तान चले जाइये. उन्होंने कहा कि मैं पूछना चाहता हूं कि क्या हम लोगों के पास आलोचना करने का अधिकार भी नहीं है? क्या आलोचना करने का अधिकार उन्हीं लोगों को हैं जो सरकार में हैं और आलोचना उनका करना है जो विपक्ष मे हैं?

वहीं, राम मंदिर निर्माण पर कीर्ति आजाद ने कहा कि अगर एससी/एसटी कानून लाया जा सकता और सुप्रीम कोर्ट के आदेश को बदला जा सकता है. अगर सबरीमाला पर सुप्रीम कोर्ट के आदेश का विरोध किया जा सकता है. अगर मुसलमानों के तीन तलाक बिल के उपर विरोध के बावजूद बिल लाया जा सकता है तो आज साढ़े चार साल बाद राम क्यों याद आएं हैं मैं यह जानना चाहता हूं.

MUST READ: NDA ने ‘बागी’ उपेंद्र कुशवाहा को दिया ‘बड़ा झटका’, एक भी सीट नहीं दी जाएगी- सूत्र

लोकसभा चुनाव को लेकर कीर्ति झा आजाद ने फिर दोहराया कि वे चुनाव तो दरभंगा से ही लड़ेंगे. मगर किस दल से लड़ेंगे, ये अभी स्पष्ट नहीं है. सही समय पर इसकी भी घोषणा कर दी जाएगी. कांग्रेस में जाने के सवाल पर उन्होंने कहा कि ये मैं भी मीडिया के जरिए ही सुन रहा हूं.
वहीं, कीर्ति आजाद ने बातचीत में कहा कि हम मिथिलांचल के रहले वाले हैं और मिथिलांचल वासी है, हमारी मांग है कि उत्तर बिहार के मिथिला को अलग राज्य बनाया जाए. उन्होंने कहा कि रामायण में भी इस राज्य का जिक्र है, लिहाजा सरकार हमारी मांगों पर अमल करे.

Continue Reading
Advertisement
Politics6 hours ago

तेजप्रताप को मां राबड़ी ने फोन कर समझाया, पटना लौटकर वापस ले सकते हैं तलाक की अर्जी

Trending7 hours ago

वैज्ञानिक संस्थानों में बेटियों की भागीदारी बढ़ाया जाना जरूरी : राष्ट्रपति

CRIME8 hours ago

मुजफ्फरपुर बालिका गृह मामलाः जेडीयू नेता मंजू वर्मा पार्टी से निलंबित

Trending1 day ago

कल आ रहे राष्ट्रपति बिहार, मिनट टू मिनट का जाने उनका कार्यक्रम

Politics1 day ago

NDA से मिली चोट ने उपेन्द्र और अरुण को फिर किया एक, महागठबंधन में जाने की तैयारी!

Politics1 day ago

दुर्भाग्य है कि मुझे बिहारी कहा जाता है: कीर्ति आजाद

Politics2 days ago

कुशवाहा के समर्थन में आए सीपी ठाकुर, कहा- उनके जाने से NDA को नुकसान

Politics2 days ago

VIDEO: बिहार आने का साहस नहीं अल्पेश ठाकोर में: सुशील मोदी

CRIME2 days ago

छठ पर्व की भारी सुरक्षा के बीच RLSP के प्रखंड अध्यक्ष की गोली मारकर हत्या

Politics2 days ago

NDA ने ‘बागी’ उपेंद्र कुशवाहा को दिया ‘बड़ा झटका’, एक भी सीट नहीं दी जाएगी- सूत्र

Trending2 days ago

बाल दिवस विशेष: कानून की भाषा में भी ‘बच्चे’ की परिभाषा अलग-अलग

Uncategorized2 days ago

बिहार समेत पूरे देश भर में दिया गया उदीयमान भगवान भास्कर को अर्घ्य

Trending2 days ago

लालू के कन्हैया की फिर बिगड़ी तबीयत, बिना खाए-पिए नंगे पांव की गोवर्धन पर्वत की परिक्रमा

Trending2 days ago

माथे पर दउरा लेकर घाट पहुंचे चिराग, सुमो ने अहमदाबाद में किया छठ घाट का उद्घाटन

Trending2 days ago

CM नीतीश ने दी छठ की शुभकामनाएं, घाटों का किया निरीक्षण, कहा: महापर्व से सीखें आत्‍मानुशासन

Politics2 days ago

कुशवाहा के समर्थन में आए सीपी ठाकुर, कहा- उनके जाने से NDA को नुकसान

Politics1 day ago

दुर्भाग्य है कि मुझे बिहारी कहा जाता है: कीर्ति आजाद

Politics1 day ago

NDA से मिली चोट ने उपेन्द्र और अरुण को फिर किया एक, महागठबंधन में जाने की तैयारी!

Politics2 days ago

NDA ने ‘बागी’ उपेंद्र कुशवाहा को दिया ‘बड़ा झटका’, एक भी सीट नहीं दी जाएगी- सूत्र

CRIME2 days ago

छठ पर्व की भारी सुरक्षा के बीच RLSP के प्रखंड अध्यक्ष की गोली मारकर हत्या

Politics6 hours ago

तेजप्रताप को मां राबड़ी ने फोन कर समझाया, पटना लौटकर वापस ले सकते हैं तलाक की अर्जी

Politics2 days ago

VIDEO: बिहार आने का साहस नहीं अल्पेश ठाकोर में: सुशील मोदी

Trending1 day ago

कल आ रहे राष्ट्रपति बिहार, मिनट टू मिनट का जाने उनका कार्यक्रम

Uncategorized2 days ago

बिहार समेत पूरे देश भर में दिया गया उदीयमान भगवान भास्कर को अर्घ्य

Trending2 days ago

बाल दिवस विशेष: कानून की भाषा में भी ‘बच्चे’ की परिभाषा अलग-अलग

CRIME8 hours ago

मुजफ्फरपुर बालिका गृह मामलाः जेडीयू नेता मंजू वर्मा पार्टी से निलंबित

Trending7 hours ago

वैज्ञानिक संस्थानों में बेटियों की भागीदारी बढ़ाया जाना जरूरी : राष्ट्रपति

Videos3 months ago

Krishna Janmashtami 2018: जन्माष्टमी की रात करें ये खास उपाय, पूरी होंगी मनोकामनाएं

Videos3 months ago

बिहार के कांग्रेस विधायक की बेटी बनी जॉन अब्राहम की हीरोइन, देखें HOT PHOTO VIDEO

Videos3 months ago

Video: स्वतंत्रता दिवस पर कोहली ने धवन, पंत संग देशवासियों को दिया विराट ‘Challenge’

Trending4 months ago

Video: नहीं रहे पलामू के धरती पूत्र पूर्व राज्यपाल भीष्म नारायण सिंह

Videos4 months ago

अकेले में देखें देशी गर्ल PRIYANKA CHOPRA की यह VIDEO, जगा देगी मर्दांगी

Videos4 months ago

BJP और NDA भगाओ साइकिल यात्रा से पहले खुद ही साइकिल से गिर पड़े तेजप्रताप

Videos4 months ago

बिहार की शान ISHAN KISHAN हुए 20 के, चाहने वालों ने केक काटकर मनाया जन्मदिन

Videos4 months ago

दो-दो लड़कों से प्रेम करना हिना खान को पड़ गया महंगा

Bollywood4 months ago

शादी के बाद नेहा धूपिया ने बिखेरे हॉटनेस के जलवे, सेक्सी वीडियो वायरल

Videos4 months ago

जानें क्यों माही ने कहा उनमें कॉमन सेंस नहीं

Astrology5 months ago

तुला वालों को आज मिल सकता है प्रमोशन, देखें आपके राशिफल में है क्या?

Uncategorized11 months ago

Biharimati wishes Happy New Year नव-वर्ष की पावन बेला में है यही शुभ संदेश हर दिन आये आपके जीवन में लेकर खुशियां विशेष.

Bihar1 year ago

कैबिनेट की मीटिंग हुई खत्म, तेजस्वी का नहीं आया कोई फैसला

Sports1 year ago

Boxing continues to knock itself out with bewildering, incorrect decisions

Trending

Copyright © 2018 Biharimati Powered by Leadpanther.