IRCTC घोटाले में लालू परिवार की बढ़ी मुश्किलें, तेजस्वी और राबड़ी देवी पर चार्जशीट दायर

0
80

आईआरसीटीसी मामले में राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव एवं उनके परिवार की मुश्किलें कम होती नहीं दिख रही है. सीबीआई ने आज इस मामले में पूर्व रेल मंत्री लालू प्रसाद यादव और अन्य के खिलाफ आरोप पत्र दायर किया है. सीबीआई के अधिकारियों ने बताया कि आईआरसीटीसी मामले में दायर आरोपपत्र में सीबीआई ने जिन 14 लोगों के नाम लिये है, उनमें बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी और उनके पुत्र तेजस्वी भी शामिल है. मालूम हो कि लालू यादव फिलहाल चारा घोटाले के मामले में दोषी करार दिए जाने के बाद जेल में हैं.
10 अप्रैल को राबड़ी आवास पहुंची सीबीआई की विशेष टीम
सीबीआई की विशेष टीम दस अप्रैल को राबड़ी आवास पहुंची थी और राबड़ी-तेजस्वी से घंटों पूछताछ की थी. यह पूछताछ रेल टेंडर घोटाला मामले में की गयी थी, जिसमें राबड़ी देवी, तेजस्वी यादव समेत आठ मुख्य लोगों को सीबीआई ने नामजद आरोपित बनाते हुए एफआईआर दर्ज की थी. उसी वक्त कयास लगाए जा रहे थे कि इस मामले में अब जल्द चार्जशीट दाखिल हो सकती है.सीबीआई ने 2006 में रांची और पुरी के होटलों के टेंडर दिए जाने के मामले में हुई कथित अनियमितता को लेकर तत्कालीन रेलवे मंत्री, उनकी पत्नी और बेटे के खिलाफ मामला दर्ज किया था. लालू यादव यूपीए 1 में 2004 से 2009 तक रेल मंत्री थे.

मामले में हैं आठ नामजद आरोपी
लालू प्रसाद के रेल मंत्री के कार्यकाल में रेल होटल टेंडर घोटाला हुआ था, जिसमें आठ लोग तात्कालीन रेल मंत्री लालू प्रसाद , पूर्व सीएम राबड़ी देवी, पूर्व डिप्टी सीएम तेजस्वी प्रसाद यादव, सरला गुप्ता (राजद सांसद प्रेमचंद गुप्ता की पत्नी), पीके गोयल (तत्कालीन एमडी, आइआरसीटीसी), बिनय कोचर और विजय कोचर (सुजाता होटल एवं चाणक्य होटल के मालिक) के अलावा दिल्ली स्थित लारा प्रोजेक्ट एलएलपी एवं डिलाइट मार्केटिंग कंपनी प्राइवेट लिमिटेड से जुड़े अन्य प्रमुखों को नामजद अभियुक्त बनाया गया है.
क्या है रेल होटल टेंडर घोटाला
सीबीआई की जांच में यह बात सामने आयी है कि मई 2004 में लालू प्रसाद ने अपने पद का दुरुपयोग करते हुए रेलवे की पुरी और रांची स्थित रेल रत्न होटलों का आवंटन कोचर बंधु की कंपनी सुजाता होटल को कर दिया था. इसके बदले में मिले करोड़ों रुपये की जमीन और जायदाद को शेल कंपनी लारा प्राइवेट लिमिटेड (पहले इसका नाम डिलाइट मार्केटिंग था) के नाम पर ट्रांसफर किये गये थे. इस कंपनी की निदेशक राबड़ी देवी और तेजस्वी प्रसाद हैं. इस वजह सीबीआई की जांच की जद में ये भी आ गये हैं.

 

 

In the IRCTC case, the difficulty of RJD supremo Lalu Prasad Yadav and his family is not visible. The CBI today filed a charge sheet against former railway minister Lalu Prasad Yadav and others in this case. Officials of the CBI said that the names of the 14 people named for the CBI in the charge sheet filed in the IRCTC case include former Bihar Chief Minister Rabri Devi and his son tejashwi yadav.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here