लोहे के पिंजरे में कैद हो गए बाबा भीमराव अंबेडकर, 24 घंटे सुरक्षा को तीन होमगार्ड तैनात

0
30

बदायूं में एक बार फिर डॉक्टर भीमराव रामजी अंबेडकर की मूर्ति की चर्चा है. इस बार चर्चा मूर्ति के क्षतिग्रस्त होने से जुड़ी नहीं, बल्कि उसकी सुरक्षा को लेकर है. जिला प्रशासन ने सुरक्षा की दृष्टि से बाबा साहेब की मूर्ति को लोहे के जाल में कैद कर दिया है. प्रशासन का ये कदम अब सवालों के घेरे में है. आपको बता दें कि शहर के बीचों बीच एक चौराहे के निकट लगी डॉ. भीमराव अंबेडकर की एक प्रतिमा को लोहे की सलाखों में बंद कर ताला लगाने के साथ ही यहां पुलिस की ओर से ड्यूटी भी लगी हुई है. तीन होमगार्ड प्रतिमा की 24 घंटे सुरक्षा करते हैं.

पुलिस प्रशासन को इसकी जानकारी नहीं
पुलिस क्षेत्राधिकारी वीरेंद्र सिंह यादव से जब इस संबंध में जानकारी ली गई तो उन्होंने कहा कि हो सकता है कि किसी ने मूर्ति की सुरक्षा के मद्देनजर ऐसा किया होगा लेकिन किसने किया इसकी कोई जानकारी नहीं है. जांच कराई जाएगी. उत्तर प्रदेश के बदायूं जिले के कोतवाली क्षेत्र में स्थित गद्दी चौक पर स्थापित भारतीय संविधान के रचयिता के साथ ऐसा होने पर एसडीएम बदायूं पारसनाथ मौर्य के बताया कि 14 अप्रैल को डॉ. अम्बेडकर जयंती तक मूर्तियों की विशेष सुरक्षा करने के निर्देश दिए गए हैं. ऐसी आशंका है कि कुछ असामाजिक तत्व मूर्तियों को नुकसान पहुंचा कर माहौल बिगाड़ने का प्रयास कर सकते हैं लेकिन मूर्ति को लोहे की सलाखों में किसने बंद किया इस सवाल पर उन्होंने भी अनभिज्ञता जताई. कुछ दिन पहले लखनऊ के बाबा साहब भीमराव आंबेडकर विश्वविद्यालय (बीबीएयू) में सुरक्षा को ध्यान में रखकर बाबा साहब की प्रतिमा को रेलिंग और चैनल में बंद कर ताला लगा दिया गया था.

मूर्ति की सुरक्षा को लेकर उठाया कदम
दरअसल, पिछले कुछ दिन पहले शहर के दुगरैया में अंबेडकर की मूर्ति भगवा रंग में रंगी थी, जिसके कुछ देर बाद प्रशासन ने इसे नीले रंग में रंगवा दिया था. अब प्रशासन ने सुरक्षा की दृष्टि से शहर की गद्दी चौक स्थित अंबेडकर पार्क प्रतिमा को लोहे के जाल में ‘कैद’ कर दिया.

भगवा से नीली हुई थी बाबा साहेब की मूर्ति
आपको बता दें कि कुछ दिन पहले बदायूं के ही दुगरैया में बाबा साहेब भीमराव रामजी अंबेडकर की मूर्ति पर भगवा रंग चढ़ाए जाने पर हुए विवाद के बाद फिर से इसे नीले रंग में रंग दिया गया था. जानकारी के मुताबिक बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) नेता हेमेंद्र गौतम की अगुवाई में मंगलवार (10 अप्रैल) को भीमराव आंबेडकर की मूर्ति पर नीला रंग चढ़ाया गया था. इससे पहले 7 अप्रैल की रात को किसी ने भीमराव आंबेडकर की मूर्ति पर भगवा रंग चढ़ा दिया था, जिसके बाद इलाके के कुछ लोगों ने रोष प्रकट किया था.

 

 

Badaun is once again discussing the statue of Dr. Bhimrao Ramji Ambedkar. The district administration has captured Baba Saheb's idol in an iron trap in terms of security. In the middle of the city, a statue of Dr Bhimrao Ambedkar near an intersection, locked in an iron bars, was locked and there is also duty from the police here. Protect the three home guard images 24 hours.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here