शौर्य दिवस पर उपराष्ट्रपति के हाथों सम्मानित होगा बिहार का यह वीर पुत्र

0
98

सीआरपीएफ का शौर्य दिवस 9 अप्रैल को है. इस अवसर पर  दिल्ली के मावलंकर ऑडिटोरियम में आयोजित कार्यक्रम में बिहार के नीरज कुमार सिंह को उपराष्ट्रपति उनकी वीरता के लिए पुलिस पदक से सम्मानित करेंगे.बता दें कि नीरज सिंह 20 मार्च 2015 को असम के नगांव जिले में उपद्रवियों के साथ मुठभेड़ के दौरान अदम्य साहस का प्रदर्शन किया था.

पटना के बाढ़ निवासी नीरज ने दुश्मनों को मार गिराने के साथ-साथ अपने साथियों की भी जान बचाई. इनके इस साहस और वीरता के लिए 2017 के गणतंत्र दिवस पर ‘वीरता के लिए पुलिस पदक’ का ऐलान किया गया था. फिलहाल नीरज कोईलवर में सूबेदार मेजर के पद पर तैनात हैं और कैमूर में नक्सल विरोधी अभियान में प्रमुखता से भाग ले रहे हैं.

विदित हो कि सीआरपीएफ प्रत्येक वर्ष 9 अप्रैल को ‘शौर्य दिवस’ मनाता है. इसके पीछे 9 अप्रैल 1965 को कच्छ के रन (गुजरात) में सरदार पोस्ट में हुई वह घटना है जिसने हिन्दुस्तान के युद्ध के इतिहास में एक नया अध्याय जोड़ दिया. यह घटना सीआरपीएफ के चंद जवानों की एक टुकड़ी की बहादुरी तथा वतन पर मर मिटने की है जिसने पाकिस्तान द्वारा चलाए जा रहे अभियान “डेजर्ट हॉक” को बड़ी मुस्तैदी  से सामना कर दुश्मनों को नाकों चने चबाने पर मजबुर कर दिया. जवानों की इस अद्वितीय वीरता एवं बलिदान के इस ऐतिहासिक पल की स्मरण में सीआरपीएफ प्रत्येक वर्ष 9 अप्रैल को ‘शौर्य दिवस’ के रूप में मनाता है.

 

 

The bravery days of the CRPF is on 9th April. Neeraj Kumar Singh of Bihar will be honored with the Police Medal for his gallantry in the program organized at Mavalankar Auditorium of Delhi on this occasion. Say that Neeraj Singh will be unarmed during the encounter with the miscreants in Nagaon district of Assam on March 20, 2015. Had demonstrated.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here