देश में कहीं भी कराएं बोन मेरो ट्रांसप्लांट बिहार सरकार देगी पांच लाख का अनुदान

0
31

कैंसर या थैलेसीमिया आदि रोग से जूझ रहे मरीजों के लिए बिहार सरकार ने बहुत ही राहत देने वाला काम किया है. अब बिहार के मरीज देश में कहीं भी बोन मेरो ट्रांसप्लांट कराते हैं, तो उनको बिहार सरकार पांच लाख रुपये का अनुदान देगी. साथ ही ट्राॅमा सेंटर में भर्ती होने पर राज्य सरकार एक लाख रुपये तक का अनुदान देगी. इन दोनों ही सुविधाओं की घोषणा स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने शनिवार को पीएमसीएच में आयोजित विश्व स्वास्थ्य दिवस के मौके पर की.

मंगल पांडेय ने कहा कि प्रदेश में कई ऐसे मरीज हैं, जिनको बोन मेरो ट्रांसप्लांट की जरूरत पड़ती थी और पैसे के अभाव में वह अपना इलाज नहीं करा पाते थे. इसको देखते हुए यह निर्णय लिया गया है. इसके लिए मरीजों के पास बिहार राज्य का पहचानपत्र या निवास प्रमाणपत्र होना जरूरी है.
तीन माह में सभी अस्पतालों में नि:शुल्क डायलिसिस : स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि किडनी के मरीजों के लिए राहत भरी खबर है.

अब बिहार के किसी भी सरकारी अस्पताल में मरीजों की नि:शुल्क डायलिसिस की जायेगी. मंत्री ने कहा कि जिन सरकारी अस्पतालों में किडनी डायलिसिस मशीन नहीं है, वहां तीन माह के अंदर पहुंच जायेगी. इस मौके पर पीएमसीएच के अधीक्षक डॉ दीपक टंडन, प्रबंधक आलोक रंजन, डॉ अभीजित सिंह सहित कई डॉक्टर व नर्स आदि मौजूद थे.

क्या है बोन मेरो ट्रांसप्लांट, कैसे होता है इलाज : हड्डी रोग विशेषज्ञ डॉ रमीत गुंजन ने बताया कि बोन मेरो हमारी हड्डियों के अंदर पाया जाने वाला एक मुलायम टिश्यू होता है. बोन मेरो ट्रांसप्लांट के दौरान पीड़ित व्यक्ति के प्रभावित बोन मेरो को हेल्दी बोन मेरो से बदल दिया जाता है. बोन मेरो देना बहुत आसान है. हालांकि कुछ लोग इस बात से घबरा जाते हैं कि बोन मेरो ट्रांसप्लांट काफी पीड़ादायक होगा. लेकिन ऐसा कुछ भी नहीं होता है. बोन मेरो ट्रांसप्लांट से कैंसर रोग का इलाज संभव हो जाता है.

टीबी मरीज की जानकारी देने पर मिलेगा 1000 रुपये
मंत्री ने कहा कि आगामी 2025 तक सूबे को टीबी मुक्त करने का लक्ष्य है. इसके लिए जांच केंद्रों की संख्या बढ़ाई जा रही है. टीबी मरीजों की जानकारी देने वाले को राज्य सरकार 1000 रुपए प्रदान करेगी. मरीज को मुफ्त में जांच की सुविधा भी दी जाएगी. उन्हें दवा भी मुहैया कराई जाएगी. मरीज को 500 रुपए पोषण युक्त भोजन के लिए प्रदान किया जाएगा.

 

 

For the patients suffering from cancer or thalassemia, the Bihar government has done a lot of relief work. Now Bihar patients do transplants of Bone Mero anywhere in the country, then the Bihar government will give them a grant of Rs five lakhs. At the same time, the state government will grant up to one lakh rupees for recruitment at Trauma Center.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here