मुंगेर और जमुई में प्रतिमा विसर्जन के दौरान फायरिंग और पथराव

0
30

मुंगेर और जमुई में मंगलवार की रात चैती दुर्गा की प्रतिमा विसर्जन के दौरान उपद्रवियों ने खूब उत्पात मचाया. मुंगेर में कई जगहों पर जुलूस पर पथराव किया गया और दो जगहों पर गोलियां भी चलीं. घटना की सूचना मिलते ही डीएम, एसपी सहित कई थानों की पुलिस पहुंची. उधर, जमुई के महाराजगंज चौक से मसौढ़ी सड़क पर चैती दुर्गा प्रतिमा विसर्जन जुलूस को रोकने के विरोध में उपद्रवियों ने पुलिस पर पथराव कर दिया. जिसमें एएसआई, एसएसबी और दो पुलिस के जवान घायल हो गए.
मुंगेर में मंगलवार की रात नीलम चौक, शास्त्री चौक, पूरबसराय, मुर्गिया चौक, बाटा चौक, राजीव गांधी चौक से मूर्ति विसर्जन जुलूस गुजर रहा था. जुलूस के दौरान इन इलाकों की लाइटें काट दी गई थीं. इस बीच अंधेरे का फायदा उठाकर कुछ उपद्रवियों ने जुलूस पर पथराव कर दिया. जब तक लोग संभल पाते कि गोलियां भी चलने लगीं. हालांकि इस घटना में किसी के घायल होने की सूचना नहीं है.
पथराव और गोलीबारी की सूचना मिलते ही डीएम उदय कुमार, एसपी आशीष भारती, एडीएम ईश्वर चंद्र शर्मा, एसडीओ कुंदन कुमार, एएसपी हरिशंकर कुमार के नेतृत्व में सीआरपीएफ, एसटीएफ, एसएसबी जवानों ने मौके पर पहुंचकर मोर्चा संभाल लिया. पुलिस जवानों ने कई जगहों पर उपद्रवियों को बल प्रयोग कर खदेड़ दिया. इसके बाद भी रुक-रुककर पथराव और गोलीबारी की घटना होती रही. वहीं, इसको लेकर अफवाहों का भी बाजार गर्म रहा. बार-बार लाइट कटने का भी उपद्रवी लाभ उठाने की कोशिश कर रहे थे. लेकिन, प्रशासनिक सजगता के कारण स्थिति को नियंत्रित कर लिया गया. उधर, एसपी आशीष भारती ने कहा कि सभी चौक-चौराहों पर पुलिस बल की प्रतिनियुक्ति की गई है. उपद्रवियों को चिह्नित कर कड़ी कार्रवाई की जाएगी. लोग अफवाह पर ध्यान नहीं दें.

मुंगेर के लोगों से अपील है कि वे अफवाह पर ध्यान नहीं दें. अगर कोई शांति भंग करने का प्रयास करता है तो इसकी सूचना पुलिस को दें. प्रशासन उपद्रवियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करेगा.
-आशीष भारती, एसपी मुंगेर
मुंगेर हमेशा से राज्य में सांप्रदायिक सौहार्द की मिशाल पेश करता रहा है. ऐसे में आम लोगों से अपील है कि शांति व्यवस्था बनाए रखें. अफवाहों पर ध्यान नहीं दें. प्रशासन का सहयोग करें.
-शैलेश कुमार, ग्रामीण कार्य मंत्री
मुंगेर के लोग अमन पसंद हैं. कई बार उपद्रवियों ने मुंगेर में भाईचारे को नुकसान पहुंचाने की कोशिश की है. इसबार भी मुंगेर के लोग ऐसे लोगों की साजिश को विफल कर देंगे.
-मु. सलाम, प्रदेश अध्यक्ष जदयू अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ

 

 

 

During the immersion of Chaiti Durga’s statue in Munger and Jamui on Tuesday night, the miscreants raged a lot. In Munger several places were pelted on the procession and the bullets were also held in two places. several police stations including DM, SP as soon as the incident was reported.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here