मुख्यमंत्री के गृहनगर नालंदा में भी जुलूस के दौरान दो गुटों में हिंसक झड़प

0
103

नालंदा के सिलाव थाना इलाके के कड़ाह गांव में उस वक्त अफरातफरी का माहौल कायम हो गया, जब बजरंग दल के कार्यकर्त्ता रामनवमी जुलूस लेकर निकले. रास्ते में दूसरे पक्ष के लोगों ने बैरियर लगाकर जुलूस को रोक दिया. जिसके कारण दोनों पक्षों के बीच जमकर मारपीट हुई और दोनों ओर से रोड़ेबाजी शुरू हो गयी.

सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और स्थिति को देखते हुए फायरिंग की. जब फायरिंग से लोग शांत नहीं हुए तो पुलिस ने लाठी चार्ज किया जिसमें दर्जनों लोग जख्मी हो गए, इस दौरान कई पुलिसकर्मी भी जख्मी हो गए.

बजरंगदल के कार्यकर्ताओं ने राजगीर नई दिल्ली श्रमजीवी एक्सप्रेस ट्रेन को भी रोक दिया. सूचना मिलते ही डीआईजी राजेश कुमार, जिलाधिकारी डॉ त्यागराजन और पुलिस अधीक्षक सुधीर कुमार पोरिका पुलिस बलों के साथ मौके पर पहुंचे और उग्र लोगो को शांत करवाया. इस मामले में अब तक महिला समेत एक दर्जन उपद्रवकारियों को गिरफ्तार कर लिया है.

फिलहाल स्थिति नियंत्रण में है, मगर दोनों पक्षों के बीच तनाव व्याप्त है. मौके की गंभीरता को देखते हुए पूरे गांव में अतिरिक्त पुलिस बल की तैनाती कर दी गयी है. फिलहाल डीआईजी समेत सभी वरीय अधिकारी कैम्प कर रहे हैं. इस घटना के बाद सिलाव के सभी दुकानदारों ने अपनी-अपनी दुकानें बंद कर दी है.

                                        Video credit: eenaduindia. com

 

At the Kadah village of Nalanda's Silav Thana area, the atmosphere of misery came to an end, when Bajrang Dal activist Ramanavami came out with a procession. On the way the other side stopped the procession by putting a barrier. This led to widespread violence between the two sides and started rolling on both sides.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here