औरंगाबाद में भड़की हिंसा के बाद लगा कर्फ्यू, दुकान में लगा दी आग, पुलिस को पीटा

0
72

जिले में आज भी रामनवमी जुलूस के दौरान जमकर हंगामा हुआ जिसमे उपद्रवियों ने बाजार में जमकर तोड़फोड़ की और दुकानों को आग के हवाले कर दिया. घटना का पता चलते ही पहुंची पुलिस पर भी उपद्रवियों ने रोड़ेबाजी की और पुलिस को भी खदेड़-खदेड़कर पीटा. आगे और माहौल न बिगड़े, इसके लिए जिला प्रशासन ने एहतियातन कर्फ्यू लागू कर दिया है.

औरंगाबाद के जिलाधिकारी राहुल रंजन ने आज सोमवार से शहर में कर्फ्यू लगाए जाने की पुष्टि की है. यह कर्फ्यू आज सोमवार को दो गुटों में हुई ताजा झड़प के बाद लगाया गया है.रविवार को भी बिहार के औरंगाबाद और कैमूर जिले में शोभा यात्रा को लेकर दो पक्षों के बीच तनाव उत्‍पन्‍न हो गया था और तनाव की आड़ में उपद्रवियों ने आगजनी व पथराव किया. कई गाडि़यों को आग के हवाले कर दिया.

जानकारी के अनुसार, औरंगाबाद शहर के नावाडीह मोहल्ले में रविवार शाम बाइक जुलूस पर पथराव के बाद शहर में तनाव बढ़ गया. उपद्रवियों ने नावाडीह में जमकर हंगामा एवं दुकानों में तोडफ़ोड़ की. नगर थाना के सदर अस्पताल के पास स्थित दर्जन भर दुकानों में आग लगा दी. दुकान में रखा सामान धू-धू कर जलने लगा. रोड़ेबाजी में दर्जनों उपद्रवियों के घायल होने की सूचना है.

बता दें कि शनिवार को सिवान जिले में भी शोभायात्रा निकालने को लेेकर हिंसक झड़प हुई थी. जिले के एमएच नगर थाना क्षेत्र अंतर्गत निजामपुर कर्बला के समीप शनिवार को श्रीराम जन्मोत्सव के पूर्व बाइक से निकाली गई शोभा यात्रा को रोके जाने के बाद दो पक्षों में तनाव हो गया. देखते ही देखते थोड़ी देर बाद पथराव शुरू हो गया. शरारती तत्वों ने जमकर उत्पात मचाया.
उपद्रवियों ने एक प्राइवेट स्कूल में तोड़फोड़ की और दो स्कूली वाहनों को आग के हवाले कर दिया.

दोनों तरफ से जमकर पथराव किया गया. पथराव में स्थानीय थानाध्यक्ष अतुल राज और दो जवानों को चोटें आईं. जबकि एक दर्जन से ज्यादा लोगों के घायल होने की सूचना है. वहीं शनिवार को हसनपुरा में 2 दिन पूर्व दो पक्षों में हुए विवाद के बाद हसनपुरा के उसरी में बनिया वर्ग के लोगों ने अपनी दुकानें बंद कर दीं हैं. उनका कहना है कि पुलिस ने निर्दोष लड़कों को पकड़ कर जेल भेज दिया है.

 

 

 

There was a fury during Ramnavmi procession in the district today, in which the miscreants ransacked the market and handed over the shops to the fire. Even after the incident came to light, the police reached the spot and also ransacked and beaten the police.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here