आरा में पत्रकार और उसके साथी सहकर्मी की हत्या, स्कॉर्पियो से सरेआम कुचलकर ली जान

0
60

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भले ही राज्य की कानून-व्यवस्था दुरुस्त करने के दावे करते हैं, लेकिन सच्चाई कुछ और ही है. भोजपुर जिले में अपराधियों ने सरेआम पत्रकार और उसके एक साथी सहकर्मी को स्कॉर्पियो से रौंद डाला. हत्या का आरोप इलाके के ही दबंग मुखिया पति और उसके परिजनों पर लगा है. हत्या का आरोप गड़हनी के एक पूर्व मुखिया के परिजनों पर लगाया जा रहा है. यह वारदात आरा-सासाराम स्टेट हाईवे पर गड़हनी थाना क्षेत्र के नहसी गांव के समीप हुई.
मुखिया से पत्रकारों की हुई थी कहासुनी
मरने वालों में गड़हनी थाना के बगवां गांव निवासी नवीन निश्चल व विजय सिंह हैं. यह हिंदी अखबार दैनिक भास्कर में कार्यरत थे. दैनिक भास्कर में छपी खबर के मुताबिक पत्रकार नवीन निश्चल अपने साथी पत्रकार के साथ रामनवमी जुलूस की कवरेज के बाद घर लौट रहे थे, तभी उन्हें निशाना बनाया गया. हादसे की सूचना से लोगों का गुस्सा भड़क उठा. गुस्साएं लोगों ने स्कॉर्पियो को फूंक दिया और शव के साथ रोड जाम कर दिया. इस मामले में मौके पर मौजूद लोगों का कहना है कि साजिशन इस घटना को अंजाम दिया गया है. ये घटना नहीं साजिश है क्योंकि गड़हनी के पूर्व मुखिया शाहिदा प्रवीण के पति हरसू मियां से रविवार शाम गड़हनी बाजार के पान के दुकान पर थोड़ी कहासुनी हुई थी, जिसके बाद वहां से घर लौटने के क्रम में पूर्व मुखिया के पति ने खुद गाड़ी ड्राइव कर साजिश के तहत पूरी घटना को अंजाम दिया.
हत्या के बाद लोगों ने स्कॉर्पियो को आग के हवाले किया
मामला यही नहीं थमता, बल्कि घटना को अंजाम देने के बाद अपराधियों ने घटना में इस्तेमाल की गई गाड़ी को भी साक्ष्य छुपाने के लिए आग के हवाले कर दिया और फिर मौके से फरार हो गए. सड़क जाम को हटाने के लिए पुलिस ने अंधेरे का फायदा उठा कर जम कर लाठिया भी भांजी.
भोजपुर एसपी अवकाश कुमार के निर्देश पर गड़हनी व चरपोखरी सहित कई थानों की पुलिस कैंप कर रही है. रविवार रात नवीन निश्चल रामनवमी जुलूस के बाद अपने साथी विजय कुमार के साथ बाइक पर सवार होकर गडहनी से अपने गांव बगवां लौट रहे थे. इसी क्रम में नहसी के पास पीछे से जा रही पूर्व मुखिया की तेज रफ्तार स्कार्पियो ने बाइक में जोरदार ठोकर मार दी टक्कर के बाद बाइक सड़क से करीब 30 फीट दूर जाकर गिरी जबकि टक्कर मारने वाली स्कोर्पियो असंतुलित होने के बाद पेड़ से टकराकर सड़क के किनारे गड्ढे में जा खड़ा हुई.
दो नामजद सहित चार लोगों पर प्राथमिकी दर्ज कराई गई है
इसमें बाइक पर सवार दोनों लोगों की घटनास्थल पर ही मौत हो गई. सूचना मिलते ही गड़हनी थाना की पुलिस दल बल के साथ घटना स्थल पर पहुची तबतक लोग स्कॉर्पियो को आग के हवाले कर चुके थे. हालांकि चालक सहित स्कॉर्पियो पर सवार भाग निकले में सफल हो गये. फिर क्या था लोगो ने आरा सासाराम स्ट्रेट हाई वे को जाम कर प्रदर्शन करने लगे सड़क जाम कर रहे लोगों का कहना था कि पूर्व मुखिया व पत्रकार के बीच पहले से विवाद था. रविवार को पूर्व मुखिया के परिजन व पत्रकार के बीच गड़हनी बाजार पर नोकझोंक हुई थी.
सड़क हादसे में मृत पत्रकार नवीन सिंह एवं उनके साथी की सड़क हादसे में मौत के बाद घरों में कोहराम मच गया. परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है. मृतक पत्रकार नवीन सिंह दो भाइयों में बड़े थे. छोटा भाई राजेश कुमार पटना जिला पुलिस में कार्यरत है. उनके परिवार में पत्नी नीतू देवी, 18 वर्षीया पुत्री निहारिका तथा 15 वर्षीया पुत्र नितिन है. वहीं मृतक विजय कुमार के घर में उनकी पत्नी तथा दो मासूम बच्चे हैं. पत्रकार नवीन निश्चल के बेटे ने हत्या का आरोप लगाया है. पुलिस मौके पर पहुंचकर छानबीन में जुट गई है.

इस मामले में आरा सदर एसडीपीओ ने बताया कि अमूमन ये साजिश ही लग रहा है, दो नामजद सहित चार लोगों पर प्राथमिकी दर्ज कराई गई है. अनुसंधान के बाद दोषियों पर जल्द कार्यवाई की जाएगी. मालूम हो कि 13 मई 2016 को हिन्दुस्तान अखबार के पत्रकार राजदेव रंजन की सरेआम गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. इस मामले में अभी भी जांच चल रही है.

 

 

 

In Bhojpur district the criminals routinely tricked the journalist and one of his fellow peer with Scorpio. The charge of killing is based on husband and his family members of the area. The charge of murder is being imposed on the relatives of a former chief of Garhhani. This incident happened near the village of Nahasi in Garhni police station area on Ara-Sasaram State Highway.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here