चारा घोटाला: कोर्ट के फैसले पर शुरू हुआ आरोप-प्रत्यारोप, जानें किसने क्या कहा..

0
69

बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने अपने पिता और राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद की जान को खतरा बताया है. शनिवार को लालू को चारा घोटाले से जुड़े मामले में सजा सुनाए जाने के बाद तेजस्वी ने कहा कि रांची के जेल में बंद मेरे पिता को जान का खतरा है. लालू के छोटे बेटे ने कोर्ट के फैसले पर किसी तरह की टिप्पणी नहीं करते हुए कहा कि लालू के बाहर रहते विरोधियों को चुनाव में जीत नहीं मिल सकती. इसलिए उन्हें जेल में ही बंद रखने की लगातार साजिश रची जा रही है.

तेजस्वी ने कहा कि जनता की अदालत से लालू को न्याय मिल रहा है और आगे भी मिलता रहेगा. उन्होंने कहा कि बीजेपी-जेडीयू को बिहार की धरती से खदेड़ कर ही दम लेंगे और किसी भी कीमत पर बीजेपी के सपने को चूर करेंगे. तेजस्वी ने बिहार के सीएम नीतीश कुमार पर भी निशाना साधा.

वहीं राजद नेता और राज्यसभा सांसद मनोज झा ने कहा कि उन्हें क्यों सजा दी जा रही है समझ से परे है. क्यों सजा दी जा रही है उनके सबूतों को दरकिनार करके. लालू की सजा पर मनोज झा ने कड़ी प्रतिक्रिया दी. वहीं दूसरी ओर सजा के एलान के बाद गिरिराज सिंह ने कहा कि लालू को उनकी करनी का फल मिल रहा है. उन्होंने अभी भ्रष्टाचारी पार्टी कांग्रेस से गठबंधन किया है, यह उसी के सरकार के दौरान का मामला है. लालू और राजद के लोग झूठे ही भाजपा पर इसके लिए आरोप मढ़ते हैं.


वहीं राजद नेता शिवानंद तिवारी ने कहा कि एक आदमी को एक अपराध के लिए एक से ज्यादा बार सजा नहीं दी जा सकती. भारत का संविधान यही कहता है. कोई भी कानून का जानकार कहेगा कि लालू यादव के साथ इंसाफ नहीं हो रहा है. उनके साथ न्याय नहीं हो रहा है. सामाजिक न्याय के अगुवा हैं, लालू यादव, इसलिए उन्हें परेशान किया जा रहा है. शिवानंद तिवारी ने लालू की हुई सजा पर सवाल खड़े करते हुए कहा कि चारा घोटाले में हुई जांच भी प्रोपर वे में नहीं हुई है.

वहीं इस मामले पर प्रतिक्रिया देते हुए जदयू के नेता केसी त्यागी ने कहा कि यह केस जब रजिस्टर हुआ था लालू मुख्यमंत्री थे. एचडी देवगौड़ा को प्रधानमंत्री लालू के कहने पर बनाया गया था. सारा सामाजिक न्याय उनके परिवार तक सीमित हो गया. अदालत के फैसलों का स्वागत करते हैं. भगवान उनको लंबी उम्र दे, उनके स्वास्थ्य की हमें चिंता है. उन्होंने कहा कि कोर्ट के फैसले पर राजद के नेता सवाल खड़े करते रहे हैं. यह ठीक नहीं हैं. पहले राजद के वरिष्ठ नेता रघुवंश प्रसाद सिंह ऐसा आरोप लगा चुके हैं.

भाजपा नेता सुशील कुमार मोदी ने कहा कि लालू को सजा उनके किए गये अपराध के आधार पर मिल रही है, इसमें भाजपा की कोई भूमिका नहीं है. राजद के द्वारा अपने कार्यकर्ताओं का मनोबल बढ़ाने के लिए दूसरे पर आरोप मढ़ा जा रहा है. राजद को पता है कि सजा क्यों हो रही है. चारा घोटाला मामले में लालू को सजा के एलान के बाद नेताओं की प्रतिक्रिया आनी शुरू हो गयी है.

भाजपा नेता राजीव प्रताप रूडी ने कहा कि यह पुराने पापों का फल है. यह चौथे मामले में सजा सुनायी गयी है. उन्होंने जिस प्रकार बिहार का नुकसान किया है, यह उसकी सजा है. यह अपराध की सजा है. मालूम हो कि चारा घोटाले से जुडे़ चौथे मामले में शनिवार को कोर्ट ने लालू प्रसाद को 14 साल की सजा और 60 लाख का जुर्माना लगाया है. चारा घोटाले से जुड़े कुल 6 मामलों में लालू के उपर केस चल रहा है जिसमें से चार में सजा का ऐलान हो चुका है. लालू फिलहाल चारा घोटाले से जुड़े मामले में सजा काट रहे हैं और रांची के होटवार जेल में बंद हैं.

 

 

 

Former deputy chief minister of Bihar, Tejaswi Yadav, described the life of his father and RJD supremo Lalu Prasad as a threat. After the sentence was pronounced in the case related to the fodder scam, Tejaswi said that my father is  danger in Ranchi jail.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here