अनिल कुंबले की तरह बिहार के लाल ने घरेलू क्रिकेट में बनाया कीर्तिमान, एक पारी में झटके दस विकेट

0
38

क्रिकेट को हमेशा से ही ‘अनिश्‍च‍ितताओं का खेल’ कहा जाता है. कब कौन सा खिलाड़ी चल जाए और कब कौन फ्लॉप हो जाए, कुछ नहीं कह सकते. इस खेल के रिकॉर्ड भी अजब-गजब ही बनते हैं. अब एक बार फिर एक बिहारी खिलाड़ी ने क्रिकेट में ऐसा रिकॉर्ड बनाया है, जिससे बिहार क्रिकेट को फिर से सुर्खियों में ला दिया है. मालूम हो कि जब टीम इंडिया के पूर्व कोच अनिल कुंबले ने पाकिस्तान के खिलाफ एक पारी में 10 विकेट लेने का कारनामा किया था तो पूरी दुनिया में उसकी चर्चा हुई थी.

वहीं गत वर्ष राजस्थान के बाएं हाथ के तेज गेंदबाज आकाश चौधरी ने एक घरेलू टी20 मुकाबले में दिशा क्रिकेट एकेडमी की तरफ से खेलते हुए अपनी विपक्षी टीम पर्ल एकेडमी की महज 36 के स्‍कोर पर ऑल-आउट कर दिया था. इस मैच में आकाश ने 10 विकेट हासिल करते हुए एक भी रन नहीं दिया था. ऐसा ही कुछ बिहार के जमुई के स्पिन गेंदबाज वासित अली ने बीसीए के घरेलू क्रिकेट में करके नया कीर्तिमान बनाया है. हेमन ट्रॉफी बी डिवीजन अंतर जिला क्रिकेट में जमुई के स्पिन गेंदबाज वासित अली ने एक पारी में दस विकेट लेकर नया रिकॉर्ड कायम किया. बीसीए के घरेलू क्रिकेट में यह कारनामा करने वाले वह पहले गेंदबाज बने. जमुई के एसके मेमोरियल स्टेडियम में खेले जा रहे टूर्नामेंट में वासित ने औरंगाबाद के खिलाफ सेमीफाइनल में सभी दस विकेट चटका कर यह उपलब्धि हासिल की.

बता दें कि औरंगाबाद ने टॉस जीता और पहले बल्लेबाजी करते हुए 228 रन बनाए. वासित ने 21.3 ओवर की गेंदबाजी में चार मेडन देकर 62 रन खर्च किये और दस विकेट चटकाए. इसके पूर्व पटना जूनियर डिवीजन लीग में अजीत कुमार माइकल (ब्लू बिजार्ड) और बाटा सीसी के एक क्रिकेटर ने दस विकेट लिए थे.
वासित ने ऐसे झटके अपने झोली में दस विकेट
कॉलोनी एंड से गेंदबाजी करते हुए वासित ने औरंगाबाद के विपिन को 36 रन पर गली में अमित दलाल के हाथों कैच करवाया. दूसरे विकेट के रूप में करण राज को 13 रनों के निजी स्कोर पर नावेद के हाथों से स्लिप में लपकवाया. तीसरा विकेट हर्ष राज को वासित की गेंद पर नावेद ने लपका. वासित ने चौथा विकेट पृथ्वीराज का लिया. उसे विकेटकीपर संदीप ने पकड़ा. पांचवां विकेट पृथ्वीराज (12 रन) को चलता किया. छठा विकेट सुमित पटेल (12 रन) को राहुल के हाथों कैच कराया. सातवां विकेट पुन: नावेद के हाथों प्रवीण कुमार (0 रन) को कैच करवाया. आठवें विकेट के रूप में वीर कुमार को क्लीन बोल्ड किया. वासित ने अम्बुज पांडेय को दो रन और वीर कुमार को 12 रनों पर चलता कर दस विकेट पूरे किए.

जबाव में जमुई की टीम ने 40 ओवर में पांच विकेट के नुकसान पर 155 रन बना लिए हैं। पहली पारी में बढ़त के लिए जमुई को 73 रन और बनाने हैं. ऐसा करने पर उसके फाइनल का रास्ता साफ हो जाएगा. जमुई की ओर से मयंक मेहता ने एक रन, अमित दलाल ने 14, अरविंद यादव ने 24, पुनीत मल्लिक ने 17 और मानिक सरकार ने 6 रन बनाए.

संदीप रावत 67 रन बनाकर व राहुल कुमार 11 रन बनाकर क्रीज पर डटे हैं. इससे पूर्व संदीप रावत ने अर्धशतक व एक शतक जमाया है. अंपायर की भूमिका में स्टेट पैनल के अम्पायर रविन्द्र मोहन व वेद प्रकाश मौजूद थे. दोनों अम्पायर ने इतिहास रचनेवाले गेंद पर हस्ताक्षर कर वासित अली को सौंप दिया. स्कोरिंग सुमन कुमार व राहुल कुमार ने किया.
दस विकेट झटकते ही चूम लिया मैदान
बिहार क्रिकेट में इतिहास रचने वाले वासित अली के लिए श्रीकृष्ण सिंह स्टेडियम लकी साबित हुआ. इस मैदान में गेंदबाजी के दौरान कई नाटकीय मोड़ भी आए. 55 वें ओवर के दौरान नावेद की बेंदबाजी के दौरान आदित्य कुमार 21 रना बनाकर खेल रहे थे. अंतिम गेंद पर कैच सीधे जमुई के क्षेत्ररक्षक अरविंद यादव के हाथों में गया परंतु उसने उसे छोड़ दिया. अगर अरविंद वह कैच ले लेते तो वासित इतिहास नहीं बना पाते.

56 वें ओवर में तीसरी गेंद पर उसने आदित्य को संदीप के हाथों स्टंप आउट कराकर 10 विकेट लिए इसके साथ ही उन्होंने अपने लिए लकी मैदान को चूम लिया. इस दौरान गवाह बने डीसीए के अध्यक्ष चन्दभानु सिंह, संयुक्त सचिव शेखर सिंह सचिव संजय कुमार सिंह, पूर्व सचिव राजेश कुमार सिंह, कोच इमरान अख्तर खान, नीतेश कुमार, सुदर्शन कुमार.

 

 

 

Bihar’s Jamui spin bowler Wasit Ali made a new record in the BCA’s domestic cricket. Jamui’s spin bowler wasit Ali in the Heman Trophy B Division Inter-District Cricket scored ten wickets in an innings and set a new record. He became the first bowler to do this in BCA’s domestic cricket.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here