मारपीट की घटना के विरोध में हड़ताल पर गये बिहार के सभी बीडीओ

0
18

बिहार के सभी प्रखंडों के विकास पदाधिकारी यानि बीडीओ गुरुवार से हड़ताल पर चले गये हैं. मामला सीवान जिले से जुड़ा है जहां सोमवार को प्रखंड प्रमुख और समर्थकों द्वारा एक बीडीओ के साथ मारपीट और दुर्व्यव्हार किया गया. सीवान के बड़हरिया बीडीओ राजीव कुमार सिन्हा पर जानलेवा हमला किया गया था जिसमें उन्हें काफी चोट आयी थी.
मारपीट की घटना का आरोप प्रखंड प्रमुख शबुतरा खातून और उनके समर्थकों पर लगा था. इस मामले में पुलिस द्वारा केस भी दर्ज किया गया है. इस घटना से भड़के प्रदेश भर के बीडीओ ने हड़ताल पर जाने का फैसला लिया है और गुरुवार से हड़ताल पर चले गये.
प्रखंड विकास पदाधिकारियों के हड़ताल पर जाने से ब्लॉक लेवल पर होने वाला काम प्रभावित होगा ही साथ ही जन कल्याण की योजनाओं के निष्पादन में भी देरी हो सकती है. चुकि ये वित्तीय वर्ष का आखिरी महीना है ऐसे में वित्त वर्ष के अंतिम महीने को देखते हुए सरकार के लिए बीडीओ की हड़ताल को टालना बड़ी चुनौती हो गई है.
गोपालगंज के सभी बीडीओ ने भी अपनी सुरक्षा को लेकर बिहार सरकार पर गंभीर सवाल खड़े किये है. बीडीओ संघ ने एक आवाज में कहा की बिहार में वे खुद को असुरक्षित महसूस कर रहे है. जिसकी वजह से उनकी कार्यक्षमता प्रभावित हो रही है.
सभी बीडीओ ने अपनी सूत्री मांगो को लेकर डीडीसी दयानंद मिश्रा को ज्ञापन सौपा उसके बाद वे डीएम से मिलकर खुद की सुरक्षा की मांग की. बीडीओ ने कहा की भय के वातावरण में वे बुरी तरह से त्रस्त है. वे अपनी सुरक्षा को लेकर चिंतित है. उन्हें फील्ड में काम करना पड़ता है. कोई भी धमकी देकर चला जाता है. इसलिए भय के वातावरण में उन्हें काम करना पड़ता है.

 

 

Going on strike of Block Development Officers, work on block level will be affected and execution of public welfare schemes may also be delayed.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here