तीन साल की गंगा संग बच्चा बन खेले पीएम मोदी, अचानक, भागो पुलिस आ जाएगी कह उसे डराया

0
116

पिछले दिनों प्रधानमंत्री मोदी ने महिला दिवस के मौके पर अपने संबोधन में कहा था कि यदि सास बेटी ही चाहिए कहना शुरू कर दें तो बेटियों को कोख में नहीं मारा जाएगा. पीएम मोदी के इस संबोधन से जाहिर होता है कि वह देश में बेटियों की कम होती संख्या को लेकर चिंतित है. वहीं उन्होंने महिला दिवस के मौके पर राजस्थान के झुंझुनू में राष्ट्रीय पोषण मिशन और बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ मिशन का शुभारंभ किया. परंतु इस मौके पर सबसे ज्यादा चर्चा का विषय रहा प्रधानमंत्री का वहां मौजूद छोटी बच्चियों के साथ खेलना. इसी कड़ी में हम आपको मिलाते हैं बनारस की तीन साल की बच्ची गंगा से, जिसके साथ प्रधानमंत्री महिला दिवस की पूर्व संध्या पर अपने व्यस्त कार्य को विराम देकर घंटों बच्चे बन कर खेलते रहे. जब गंगा की शरारतों से थक गए तो उन्होंने अपने बचाव में गंगा से कहा, भागो वरना पुलिस आ जाएगी.

कौन है य​ह छोटी बच्ची गंगा
दरअसल, बीते सोमवार को पीएम मोदी ने श्री काशी विश्वनाथ मंदिर के पुजारी और उनकी फैमिली को खासतौर से दिल्ली आमंत्रित किया था. पुजारी जी और उनके परिवार को SPG लेकर दिल्ली के कल्याण मार्ग स्थित पीएम के आवास पर पहुंची. जहां से उन्हें मंगलवार की दोपहर Parliament House स्थित पीएम के कार्यालय पहुंची. इस दौरान पुजारी की तीन बेटियां भी साथ थी. उनमें सबसे छोटी बच्ची गंगा थी. जिसकी मासुमियत देख कर पीएम मोदी खुद बचे बन गए. गंगा ने भी मोदी को खूब छकाया. कभी वह उनकी आलमारी खोलती तो कभी उसके डेस्क पर रखे सामानों को इधर-उधर करते. वह जब भी दौड़ती प्रधानमंत्री खुद उसे पकड़कर लाते. लेकिन गंगा की शरारते कम नहीं हो रही थी. उन्हें परेशान देखकर पुजारी की पत्नी भावना मिश्र ने गंगा को डांटा लगाई. इस पर प्रधानमंत्री हंसते हुए बच्ची से बोले-‘चलो वरना पुलिस आ जाएगी।’
बड़ी बेटी को दिए पढ़ाई के टिप्स तो गंगा को चॉकलेट
इस बीच पीए ने पुजारी की बड़ी बेटी उमा जो कक्षा 6th में पढ़ती है. उसे पढ़ाई और एग्जाम को लेकर काफी टिप्स दिए. पीएम ने उससे पूछा कि ‘एग्जाम वॉरियर’ बुक खरीदी क्या? उमा के ना कहने के बाद पीएम ने SPG के जवान के हाथों उसे वो किताब दिलवाई. फिर कहा-‘जीवन में पढ़ाई ही ऐसी चीज है, जो कभी बेकार नहीं जाती’. मोदी ने पुजारी मझली बेटी से भी बातचीत करने के बाद उसे ऑटोग्राफ दिया.


काशी से ही देश ​के विकास का रास्ता
पीएम से मुलाकात के अमूल्य पल को पुजारी की पत्नी भावना ने भी व्यर्थ न जाने दिया. उन्होंने पीएम से पूछा कि क्या 2019 में वे काशी को छोड़ देंगे? इस पर मोदी ने जवाब दिया, काशी मेरे हृद्य में है. देश के विकास का रास्ता वहीं से है. ‘ऐसी राजनीतिक अफवाहें कुछ लोग फैलाते रहते हैं. मुझे काशी की जनता ने जो प्यार दिया है, जीवन भर उसका कर्जदार रहूंगा.’  पुजारी ने प्रधानमंत्री को महाशिवरात्रि का प्रसाद और स्मृति चिन्ह भेंट किया.

 

 

Prime minister launched National Mission on Nutrition and Beti Bachao Beti Teach Mission in Jhunjhunu, Rajasthan on the occasion of Women’s Day. But being the subject of most discussion on this occasion, the prime minister playing with the small girls present there. In this episode we merge you, the three-year-old girl of Banaras, from Ganga, with whom the prime minister pauses his busy work on the eve of the Women’s Day and plays for hours to become a child. When he was tired of Ganga’s mischief he told Ganga in his defense, run away or police would come.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here