बिहार के चीफ सेक्रेटरी अंजनी कुमार सिंह समेत सात लोगों को चारा घोटाला मामले में CBI कोर्ट ने भेजा नोटिस

0
129

बिहार के मुख्य सचिव अंजनी कुमार सिंह सहित सात लोगों को चारा घोटाला मामले में आरोपी बनाया गया है. CBI अदालत ने कहा है कि घोटाले में इनकी भी संलिप्तता है. CBI के विशेष न्यायाधीश शिवपाल सिंह की अदालत ने अंजनी कुमार सहित तत्कालीन वित्त सचिव विजय शंकर दुबे, सीबीआई के गवाह और आपूर्तिकर्ता दीपेश चांडक, बिहार के पूर्व डीजीपी व निगरानी के तत्कालीन एडीजी डीपी ओझा, सीबीआई के तत्कालीन इंस्पेक्टर व वर्तमान एएसपी और अनुसंधान पदाधिकारी एके झा, सीबीआई के गवाह आपूर्तिकर्ता शिव कुमार पटवारी और फूल झा को आरोपी बनाया है. अंजनी कुमार सिंह उस समय दुमका के तत्कालीन उपायुक्त थे. कोर्ट ने सभी को 28 मार्च को पेश होने को कहा है. हाजिर होने के लिए अदालत ने समन जारी किया है.
CBI के विशेष न्यायाधीश शिवपाल सिंह की अदालत ने सीआरपीसी की धारा 319 के तहत सभी को आरोपी बनाया है. जानकार अधिवक्ताओं के अनुसार सीआरपीसी की धारा 319 के तहत कोर्ट को यह अधिकार है कि किसी मामले की सुनवाई के दौरान केस में बनाए गये अभियुक्त के अलावे किसी अन्य व्यक्ति के खिलाफ साक्ष्य आया है तो उसे CRPS की धारा 319 के तहत मामले में आरोपी बनाकर हाजिर होने के लिए नोटिस जारी कर सकता है.बता दें कि दुमका कोषागार मामले में लालू प्रसाद पर भी सुनवाई पूरी हो चुकी है. उन पर 15 मार्च को फैसला आने वाला है. लालू प्रसाद पहले से ही चारा घोटाले के अन्य मामलों में जेल में बंद हैं.

 

 

Seven people, including Chief Secretary of Bihar, Anjani Kumar Singh, have been accused in the fodder scam case. The CBI court has said that they also have involvement in the scam. The court of special CBI judge Shivpal Singh has asked everyone to appear on March 28. The court has issued summons to appear in the spotlight. A special court of CBI Special Judge Shivpal Singh has made all accused under Section 319 of CrPC

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here