इंजीनियर्स हत्याकांड के मामले में आया फैसला, संतोष झा, मुकेश पाठक समेत 10 दोषी करार

0
68

बिहार में दो इंजीनियरों की हत्या के मामले में अपर सत्र न्यायाधीश की कोर्ट ने सोमवार (26 फरवरी) को गैंगस्टर मुकेश पाठक सहित 10 लोगों को दोषी करार दिया गया है. बता दें कि दो साले पहले दरभंगा जिले के दो इंजीनियर की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. हत्या से पहले कुख्यात संतोष झा गैंग ने सड़क निर्माण कर रही कंस्ट्रक्शन कंपनी से 75 करोड़ रुपये की रंगदारी मांगी थी. आज इस मामले में कोर्ट ने दस आरोपियों को दोषी करार दिया है और चार आरोपियों को बरी कर दिया है.
दरभंगा व्यवहार न्यायालय के एडीजे-5 रुपेश कुमार दुबे की अदालत ने कुल 14 आरोपियों में से चार आरोपी ऋषि झा, अनचल झा, सुबोध दुबे, टुनटुन झा को उक्त कांड मे दोषमुक्त करते हुए रिहा करने का आदेश दिया. वहीं, शेष 10 आरोपी संतोष झा, मुकेश पाठक, अभिषेक झा, मुन्नी देवी, संजय लाल देव, पिंटू लाल देव, निकेश दुबे, पिंटू झा, पिंटू तिवारी और विकास झा को दोषी करार दिया . आगामी 07 मार्च को सजा के फैसले पर सुनवाई होगी. इस मौके पर कुल 06 अभियुक्त की जेल से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए दोषारोपण पर फैसला दिया गया. शेष आरोपी अदालत में उपस्थित थे.

रंगदारी की मांग को लेकर दिनदहाड़े इन दो अभियंताओं की हत्याकांड की गूंज से पूरा बिहार थर्रा उठा था. केस के जांच के दौरान पुलिस ने कुल 14 अभियुक्तों के विरूद्ध आरोप पत्र समर्पित किया था, जिसकी सुनवाई स्पीडी ट्रायल के तहत चल रही थी. अदालत में इस मामले का सत्र वाद सं.146-16 की सुनवाई स्पीडी ट्रायल के तहत पूरी होने के बाद आज इस मामले में कोर्ट ने अपना फैसला सुना दिया है.
गौरतलब हो कि कि 26 दिसंबर 2015 को बहेड़ी थाना क्षेत्र के शिवराम चौक पर एसएच 88 का निर्माण कार्य करा रहे बीएससी और सीएंडसी के इंजीनियर मुकेश कुमार और ब्रजेश कुमार को दिनदहाड़े एके-56 रायफल से अंधाधुंध फायरिंग कर गोलियों से भून डाला था. इस घटना की प्राथमिकी बहेड़ी थाना में धीरज सिंह के बयान पर दर्ज की गई थी जिसमें कुख्यात गैंगस्टर मुकेश पाठक और विकास झा सहित अन्य अज्ञात अपराधियों के विरुद्ध मामला दर्ज कराया गया था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here